ग्रामीण क्षेत्रों में शर्तों को ताक पर रखकर बज रही गांवों में शहनाई, सोशल डिस्टेंस का भी पालन नहीं ...

लॉकडाउन कानून के हिसाब से नहीं हो रही शादियां

By: Nitin Dongre

Updated: 29 Jun 2020, 07:52 AM IST

ठेलकाडीह. इस देश लॉकडाउन मोड़ पर हैं। वही राजनांदगांव जिले में यह नियम कई स्थानों पर लागू है। देश कोरोना संक्रमण से लड़ रहा है लेकिन शादियां भी हो रही है। इस कोरोना काल में शादी करने वाले दोनों पक्षों को लॉकडाउन के नियम और शर्तों के हिसाब से शादी करनी है लेकिन ग्रामीण अंचलों में कहीं नियमों का पालन किया जा रहा है तो कहीं इन नियमों के विपरित शादियां हो रही है।

शादी वालों के घर में वधु के आगमन की जगह कोरोना संक्रमण का अवागमन न हो इस कारण प्रशासन के नियमों और शर्तों के तहत शादियां करनी होगी। लॉकडाउन में होने वाली शादियों में न बैंड होगा, न बाजा, न नाच होगा और न ही गाना।

बगैर मास्क लगाए पहुंच रहे मेहमान

कई गांवो में कोरोना वायरस के संक्रमण को लोग हल्के में लेकर कई तरह की लापरवाही बरत रहे हैं। शादी घरों में मेहमान नवाजी के चक्कर में नियम और शर्तों को ही ताक पर रख रहे हैं। लोग फिजिकल डिस्टेंश और बगैर मास्क के ही शादी में शामिल हो रहे हैं।

प्रशासन की नजर नहीं

प्रशासन भी शादी के लिए वर-वधु को नियमों के तहत अनुमति दी है लेकिन प्रशासन पुलिस विभाग भी अनुमति देकर भूल गए हैं। सवाल यह है कि अनुमति लेने के बाद शादी घरों में इसका पालन हो रहा है कि नहीं इसे देखने वाला कोई नहीं है। न तो पंचायत इस पर निगरानी कर रहा है और न ही प्रशासन। ऐसे में किसी एक के चलते पूरा गांव परेशानी में पड़ सकता है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned