फिटनेस खेल की तरफ ध्यान ही नही देते वहां खेल के महत्व को समझना बेहद ही जरूरी

प्रेरणाओं से भरे पुष्प के रूप में सुगंधित हुए इस बार फिर से तीन महानुभव

By: Nakul Sinha

Published: 01 Mar 2020, 05:05 AM IST

राजनांदगांव / उपरवाह. शुक्रवार को चारभांठा में आयोजित अंचल से प्रेरणा के पुष्प कार्यक्रम जो कि मुख्य रूप से प्रेरणा मंच, पूर्व माध्यमिक और प्राथमिक शाला चारभाठा तथा ग्रामीणों के अतुलनीय सहयोग से कराया जाता है जिसमें इस बार तीन प्रेरणा के पुष्प को आमंत्रित किया गया। प्रेरणा के पुष्प से आशय वह लोग जो अपने जीवन में लक्ष्य साधने में सफल हुए है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य बच्चों के अभिव्यक्ति कौशल, प्रदर्शन कौशल तथा श्रवण कौशल का विकास करना होता है। 6 से 14 आयु वर्ग के बच्चों का उत्तरोत्तर विकास के लिए अंचल से ऐसे व्यक्ति को बतौर प्रेरणा के पुष्प के रूप में आमंत्रित कर बच्चों से रूबरू कराते है। इस बार प्रेरणा के पुष्प के रूप में क्रीड़ा के क्षेत्र से कन्हैया पटेल रेफरी एसजीएफआई विकासखंड क्रीड़ा प्रभारी खैरागढ़, कला के क्षेत्र से संगीतकार पुरषोत्तम साहू और वादन से टिकेंद्र डेहरिया शामिल हुए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जनपद सदस्य किरण विनोद बारले, अध्यक्षता पूर्व सरपंच सुनीता साहू, संरक्षक पुरुषोत्तम साहू, मानसिंह साहू, नीलकंठ साहू, जगदीश मेहता, आशीष खंडेलवाल, हीरेन्द्र देशलहरे उपस्थित रहे।

जीवन में पढ़ाई के खेल भी जरूरी
इस दौरान कन्हैया पटेल ने खेल के महत्व को समझते हुए कहा कि हमें हमारे जीवन मे पढ़ाई के साथ खेल भी बहुत जरूरी है, आज जहां डिजिटल दुनिया में लोग मोबाइल और टीवी जैसे उपकरणों में व्यस्त है। फिटनेस खेल की तरफ ध्यान ही नही देते वहां खेल के महत्व को समझना बेहद ही जरूरी हो गया है। पुरषोत्तम साहू ने बड़े ही मजेदार तरीके से अपनी बात रखी, उन्होंने स्वयं को सीधा बच्चों से जोड़ते हुए इतने बेहतरीन तरीके से हंसी मजाक के साथ जिंदगी की गुर समझाए। उन्होंने अपनी संगीत की यात्रा को बताते हुए कहा कि मैंने हर प्रकार से बचपन मे ही संगीत से जुडऩे का प्रयास कियाए यहां तक घर मे मेरे इस हरकत को ज्यादा न पसंद करने पर भी चुपके चुपके सीखते ही गया।

कार्यक्रम में प्रतिभावान छात्र हुए पुरस्कृत
इस दौरान शिक्षा, खेल व कला के क्षेत्र में अपनी प्रतिभा दिखाने वाले बच्चों को पुरस्कार राशि, प्रमाण पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया तथा साथ ही साथ प्रेरणा के पुष्पों को भी स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। वहीं दो शिक्षकों बलदाऊ प्रसाद दुबे एवं टीकम राम यादव को बिदाई भी दी गई। दोनों ने अपने उद्बोधन में अपने पूर्व की यादें रखी तथा भावी भविष्य के निर्माता बच्चों को प्रेरणा स्वरूप ज्ञान दिया। इन दोनों शिक्षकों को श्रीफल साल तथा घड़ी भेंट कर विदाई दिया गया। सभी ने अपने अपने तरह से ऐसे शिक्षकों को सम्मानित किया तथा उनके दिए हुए ज्ञान को सारगर्भित किया। इस मौके पर विद्यालय के बच्चों द्वारा रंगारंग गायन एवं नृत्य प्रस्तुति दी गई। कार्यक्रम में अध्यक्ष तोरण लाल साहू, उपाध्यक्ष रतनलाल निषाद, सचिव सत्येंद्र यदु, सह सचिव यशवंत साहू, कोषाध्यक्ष गणेश राम साहू सहित समस्त स्कूल के शिक्षक एवं ग्रामवासी मौजूद रहे।

Nakul Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned