संगीत विवि शिक्षकों ने काला पटटी लगाकर किया अध्यापन कार्य

संगीत विवि शिक्षकों ने काला पटटी लगाकर किया अध्यापन कार्य

Nakul Sinha | Publish: Sep, 09 2018 12:56:15 PM (IST) Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

विरोध प्रदर्शन

राजनांदगांव / खैरागढ़. इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय, खैरागढ़ के शिक्षकों ने काली पट्टी लगाकर अध्यापन कार्य किया। सातवां वेतनमान दिए जाने में हो रहे विलंब से नाराज शिक्षकों ने महाविद्यालयीन एवं विश्वविद्यालयीन शिक्षक महासंघ छत्तीसगढ़ के बैनर तले चरणबद्ध आंदोलन कर रहे हैं। शिक्षक संघ अध्यक्ष प्रो.डॉ.राजन यादव व सचिव डॉ.मंलानंद झा ने जानकारी दी कि शिक्षक संघ, इन्दिरा कला संगीत विश्वविद्यालय, खैरागढ़ की 4 सितंबर को आयोजित बैठक में सर्वसम्मति से लिये गए निर्णय अनुसार 6 सितंबर से आयोजित चरणबद्ध आंदोलन को समर्थन देते हुए इस आंदोलन में भाग ले रहें हैं। आंदोलन की रूपरेखा इस प्रकार से है।

बनाई आंदोलन की रूपरेखा
6 से 8 सितंबर तक काली पट्टी लगाकर, अध्यापन करते हुए अपना विरोध प्रदर्शित करेगें। 10 व 11 सितंबर को काली पट्टी बांधकर शिक्षण कार्य करते जनप्रतिनिधियों से मुलाकात कर समर्थन प्राप्त करेंगे। 12 सितंबर को शिक्षक कलमबंद हड़ताल करेंगे। 14 को आजाद चौक रायपुर में दोपहर 1 बजे से शाम 4 बजे तक रामधुन गाकर विरोध प्रदर्शन। 15 सितंबर को 11 बजे से विशाल मौन जुलुस निकाला जायेगा जो सप्रे शाला मैदान से आरंभ होकर मुख्यमंत्री निवास तक जाएगी।

सहायक शिक्षकों की सरकार की अनदेखी
खैरागढ़. शिक्षक दिवस के दौरान सरकार की अनदेखी से नाराज सहायक शिक्षक पंचायत फेडरेशन की ब्लाक ईकाई खैरागढ़ के शिक्षकों ने शिक्षक दिवस पर काली पटटी लगाकर अध्यापन कार्य कराया। इस दौरान सरकार के रवैये की जमकर आलोचना करते वाजिब मांगों को तत्काल पूरा करने कहा गया। शिक्षक दिवस के दौरान दिनभर स्कूलों में काली पटटी लगाकर अध्यापन कार्य करने के बाद ब्लाक फेडरेशन के शिक्षक शाम को ब्लाक मुख्यालय मे एकत्रित हुए। जहां चार सुत्रीय मांगो को लेकर नाराजगी जताते नारेबाजी कर सरकार को त्वरित कार्यवाही करने की मांग की गई।

शिक्षक दिवस का किया बहिष्कार
छुरिया. विकासखंड के सहायक शिक्षकों ने विसंगति पूर्ण संविलियन के विरोध में काली पट्टी लगाकर शिक्षक दिवस का बहिष्कार किया। दिनभर स्कूल ड्यूटी के पश्चात शाम को एकत्रित होकर अपने चार सूत्रीय मांगों के संबंध में नारेबाजी की। फेडरेशन के ब्लाक अध्यक्ष मोहन कोमरे ने बताया कि सरकार ने संविलियन के नाम पर प्रदेश के एक लाखए नौ हजार शिक्षाकर्मी वर्ग 3 के साथ अन्याय व धोखा किया है। क्योंकि जब हमारा संविलियन हुआ है तो हमे नियमित शिक्षकों के समान 10 वर्ष में प्रथम एवं 20 वर्ष में द्वितीय क्रमोन्नति मिलनी चाहिए। लेकिन हमारा संविलियन आधा अधूरा व त्रुटिपूर्ण है।

Ad Block is Banned