रोड निर्माण में बरती लापरवाही, हफ्तेभर में ही उखडऩे लगी, लीपापोती करने में भी की कोताही ...

टेड़ेसरा से कलडबरी मार्ग में चढ़ा भ्रष्टाचार की भेंट, शासकीय राशि का किया बंदरबाट

By: Nitin Dongre

Published: 29 Jun 2020, 07:26 AM IST

टेड़ेसरा. राजनांदगांव ब्लाक के अंतर्गत ग्राम टेड़ेसरा से कलडबरी मार्ग में महावीर कंस्ट्रक्शन कंपनी के द्वारा भ्रष्टाचार और लापरवाही पूर्वक रोड का निर्माण किया गया। रोड की लंबाई लगभग 13.65 किमी है जिसका निर्माण किया गया है। इसमें से 34 नग पुल-पुलिया का निर्माण किया गया। यह निर्माण कार्य आदेश 7 नवंबर 2014 में कार्य प्रारंभ किया गया। इसके पूर्ण की तिथि तिथि 18 माह वर्षा ऋतु निर्धारित की गई थी। इस निर्माण कार्य के लिए शासन के द्वारा 1980.56 लाख की लागत से सड़क का निर्माण छत्तीसगढ़ शासन लोक निर्माण विभाग संभाग राजनांदगांव के अंतर्गत किया गया।

महावीर कंस्ट्रक्शन कंपनी के द्वारा रोड का निर्माण किया गया था। निर्माण हुए 1 हफ्ते भी नहीं हुए थे कि बन बघेरा के पास ही रोड उखडऩे लगी। तुरंत ही कंपनी के द्वारा तुरंत लीपापोती कर बराबर किया गया। क्षेत्र के बड़े नेताओं के संरक्षण में यह कार्य किया गया। साथ में लोक निर्माण विभाग के अधिकारी भी उतने ही जिम्मेदार हैं जितनी कंपनी। कंस्ट्रक्शन कंपनी के इस तरह की लापरवाही और भ्रष्टाचार के काम में जनप्रतिनिधि और उच्चाधिकारियों ने कंपनी को सहयोग किया। अधिकारियों के द्वारा मॉनिटरिंग करना उचित नहीं समझा गया जबकि इस रोड की समय अवधि भी समाप्त हो चुकी है।

रोड में मरहम पट्टी तो की पर सफेद लाईनिंग भूल गए

शासन के नियमों के अनुसार रोड को जब शासन के हैंड ओवर किया जाता है तब कंस्ट्रक्शन कंपनी के द्वारा फिर से डामरीकरण और रोड के किनारे सफेद पट्टी की लाइनिंग दी जाती है लेकिन कंस्ट्रक्शन कंपनी के द्वारा ऐसा नहीं किया गया। इस टेडेसरा से कलडबरी मार्ग में कंस्ट्रक्शन टेड़ेसरा से मुढ़ीपार से कलडबरी मार्ग कहीं पर ऐसा नहीं होगा जहां पर इस रोड में मरहम पट्टी न की गई हो। रोड निर्माण में लोक निर्माण विभाग राजनांदगांव के अधिकारियों ने अपने और महावीर कंस्ट्रक्शन कंपनी को फायदा पहुंचाते हुए लापरवाही बरती है। ज्ञात हो की यह मार्ग जीईरोड से सीधे कलडबरी मार्ग के लिए निकलता है।

शासकीय राशि का किया दुरूपयोग

कांग्रेस कमेटी के जिला महामंत्री गोवर्धन देशमुख ने कहा कि शासन के नियमानुसार जब किसी रोड को सरकार के हैंड वर्क किया जाता है तब संबंधित ठेकेदार के द्वारा सफेद कलर की पट्टी साइड में दी जाती है। कंस्ट्रक्शन कंपनी के द्वारा ऐसा नहीं किया गया। इसमें लापरवाही बरती गई है और शासकीय राशि का दुरूपयोग किया गया है।

उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए

जोरातराई के ग्रामीण धनेंद्र साहू ने कहा कि इस रोड को कंस्ट्रक्शन कंपनी के द्वारा स्टीमेंट के हिसाब से नहीं बनाया गया। मुरूम की जगह मिट्टी का उपयोग किया गया है। निर्माण की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned