लॉकडाउन में कोई न रहे भूखा, मदद के लिए आगे रहे हैं लोग, प्रशासन खिला रहा भोजन ...

आपदा से जंग: कलक्टर की अपील पर दानदाता व्यक्ति और संस्थाओं की मिल रही मदद

By: Nitin Dongre

Published: 01 Apr 2020, 04:08 PM IST

राजनांदगांव. विश्वव्यापी आपदा के बाद यहां लॉकडाउन की स्थिति में गरीबों और जरूरतमंदों की मदद के लिए लोग सामने आना शुरू हो गए हैं। कलक्टर जयप्रकाश मौर्य की अपील पर जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए जिले की अनेक संस्था एवं व्यक्तियों ने नगद राशि और सामग्री देने की घोषणा की है। प्रशासन ने रविवार से ही जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचाना शुरू कर दिया है। इसे लेकर सर्वे का काम भी किया जा रहा है।

कलक्टर मौर्य ने सोमवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में शहर की सामाजिक संस्थाओं और नागरिकों की बैठक ली। बैठक में कलक्टर ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने सरकार द्वारा लॉकडाउन किया गया है और ऐसी स्थिति में गरीबों और रोज कमाने खाने वाले लोगों को दिक्कत हो रही है। इसके साथ ही बाहर से आए लोगों को भी राहत की जरूरत है। उन्होंने लोगों से मदद का आह्वान किया और शहर के लोगों ने दान की घोषणा भी की।

यहां से आई मदद

आरबी रूंगटा सेल्फ एंड फुड प्रोडक्शन द्वारा एक टन आटा देने की सहमति दी है। आईबी गु्रप ने 10 हजार पाउच खाने का तेल और अन्य सामग्री प्रदान करने की सहमति दी है। आईबी गु्रप द्वारा 50 टिन एबीस राईस ब्रांड आईल, 5 कार (ड्राईवर व डीजल) सहित पुलिस विभाग को, निगम को एक सेनिटाइजर ट्रेक्टर 2.7/3 तथा 7 हजार लेबरों को गांवों में मास्क/सेनिटाइजर का वितरण के लिए पूर्व में प्रदान किया जा चुका है। गुरूद्वारा श्रीगुरू सिंघ सभा राजनांदगांव द्वारा भोजन के 200 पैकेट प्रतिदिन बांटने के लिए और 5 किलो चावल, आधा लीटर तेल, आधा किलो दाल के 300 पैकेट की व्यवस्था कराने की सहमति दी है। डॉ. संजीव, एस जैन परिवार एवं बाघवानी परिवार द्वारा चावल, दाल, आटा, तेल, नमक एवं मसाला के 100 पैकेट एवं एम/एस जेके एंड संस गंगई एचपीगैस और गीता मोहन द्वारा आवश्यकता अनुरूप रसोई गैस उपलब्ध करने की सहमति दी है। सकल जैन समाज ने जरूरतमंद लोगों के लिए 3 हजार भोजन के पैकेट देने की घोषणा की है। समाज के अध्यक्ष नरेश डाकलिया ने बताया कि पैकेट में आटा, दाल, तेल, नमक, शक्कर, सोयाबिन बड़ी, हल्दी, धनिया, मिर्च पावडर, मसाला पैकेट, नहाने व कपड़ा धोने का साबुन, चायपत्ती, मंजन, मास्क होगा। एक पैकेट में एक परिवार के 20 दिन के लिए सामग्री होगी। इसके अलावा शहर में घूम रहे मवेशियों को रोज 5 सौ रोटी बनाकर खिलाया जाएगा।

नगद राशि भी मिल रही

राईस मिल एसोसिएशन द्वारा 10 लाख, जिला भारतीय जनता पार्टी द्वारा 5 लाख, युगांतर पब्लिक स्कूल द्वारा 2 लाख, विस्तार आईएनसी द्वारा एक लाख एक हजार, जिला क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा 31 हजार रूपए, श्याम परिवार मित्र मंडल, श्याम परिवार महिला मंडल एवं श्याम निशान यात्री मंडल द्वारा 25 हजार, वरिष्ठ पत्रकार सुशील कोठारी द्वारा 21 हजार और नरेंद्र कोटडिय़ा रामाधीन मार्ग द्वारा 11 हजार सहयोग के रूप में प्रदान करने की सहमति दी गई है। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी शाखा के समस्त अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा एक लाख 30 हजार रूपए की राशि हस्तांतरित कर दी गई है। राजनांदगांव रनर्स द्वारा 51 हजार रूपए का चेक प्रदान किया गया है।

कॉल सेंटर की स्थापना

कलक्टर मौर्य के निर्देश पर प्रवासी श्रमिकों एवं परिवारों की मदद के लिए जिला पंचायत कार्यालय में कॉल सेन्टर की स्थापना की गई है। जिसका दूरभाष क्रमांक 07744-226577 है। कॉल सेन्टर में विभिन्न राज्यों से प्रवासी श्रमिक, परिवारों के लिए उनके आवास, उपचार एवं भोजन तथा कुशलता व कुशल वापसी के संबंध में संसूचनाओं का आदान-प्रदान किया जाएगा। कॉल सेन्टर प्रतिदिन सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक संचालित होगा तथा प्राप्त सूचनाओं का प्रभारी अधिकारी एवं सहायक द्वारा पंजीकृत कर सक्षम अधिकारी को प्रस्तुत किया जाएगा। जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी तनुजा सलाम ने कॉल सेन्टर के लिए प्रभारी अधिकारी एवं सहायक की ड्यूटी लगाई है।

जरूरत के समय संपर्क कर सकते हैं

इसमें पीएमएवाय शाखा जिला पंचायत के जिला समन्वयक प्रशांत साहू (99772-33492) और सहायक प्रोग्रामर खिलेश साहू (62627-28636) की ड्यूटी सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक लगाई गई है। इसी तरह आवास समन्वयक राजेश कुमार साहू (94255-76932) और लेखापाल रोशन राजपूत (78030-67321) की ड्यूटी दोपहर 2 बजे से रात्रि 8 बजे तक लगाई गई है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned