सीएम के निर्देश का नहीं हो रहा पालन, करोड़ों की लागत से बनी सड़क में लापरवाही

पूरी बनी नहीं और सड़क में आ गई कई जगह दरारें

By: Nakul Sinha

Published: 24 Jul 2018, 12:07 PM IST

राजनांदगांव / डोंगरगढ़. छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम द्वारा डोंगरगढ़ से चिचोला तक 15 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण कराया जा रहा है। सड़क के निर्माण कार्य का ठेका हैदराबाद की एनएसपीआर प्राइवेट कंपनी को दिया गया है। इस सड़क को लगभग 48 करोड़ की लागत से तैयार किया जा रहा है । बीच बीच में कई जगहों पर सड़क का निर्माण कार्य पूरा भी हो चुका है लेकिन उन जगहों पर निर्माण के कुछ दिन बाद ही थोड़ी सी बारिश से सड़क धंस गई है। कुछ जगहों पर सड़कों में बड़ी बड़ी दारारें भी आ गई जिसके चलते आये दिन कोई न कोई वाहन हादसे का शिकार हो रहे हैं।

 

बारिश ने खोल दी पोल

ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि सड़क का निर्माण कार्य करा रहे ठेकेदार ने मामले में लीपापोती शुरू कर दी है। ठेकेदार द्वारा सड़क को फिर से दुरुस्त करने की बजाय गड्डों में गिट्टी व कांक्रीट डाला जा रहा है जिससे गुणवत्ताविहीन कराए गए कार्य पर पर्दा डाला जा सके लेकिन पिछले दिनों हुई बारिश ने एक बार फिर ठेकेदार की इस करतूत को सामने ला दिया है।

सीएम के निर्देश का नहीं हो रहा पालन
बताया जा रहा है कि प्रदेश में सुगम यातायात के लिए 767 किलोमीटर सड़क निर्माण करना था जिसमें छत्तीसगढ़ के विभिन्न स्थानों सहित डोंगरगढ़ चिचोला सड़क निर्माण करना भी शामिल था लेकिन यह सड़क ठेकेदार की मनमानी के चलते पानी में बहती नजर आ रही है। छत्तीसगढ़ के मुखिया डॉ रमन सिंह ने कुछ महीने पहले हुए सड़क निर्माण कार्य की समीक्षा बैठक में सड़क की गुणवत्ता को विशेष ध्यान देने की बात कह निर्माण निर्धारित समय के भीतर करने को कहा था पर उनके प्रशासनिक नुमाइंदे मुखिया की बातों को कितना पूरा कर रहे हैं यह डोंगरगढ़ चिचोला सड़क मार्ग निर्माण से ही पता लग रहा है।

दुर्घटना की आशंका, पर अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान
विकासखंड के अंतर्गत ग्राम पंचायत ढारा से ठेलकाडीह होकर घुमका व दुर्ग तक एडीबी के अंतर्गत निर्माणाधीन सड़क का बुरा हाल है। निर्माण में देरी के साथ साथ अनियमितता की शिकायतों के बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। ग्राम ढारा से मोहारा के बीच 2 बड़े पुल का निर्माण किया गया है जिसमें पुल व सड़क के बीच सड़क धंसने से 1 फीट का हो गया है। मोटरसाइकिल चौपहिया वाहन तथा बसे जान जोखिम में डालकर पुल को पार कर रहे हैं।

ग्रामीणों ने की शिकायत
ग्रामीणों ने बताया कि बारिश होते ही सड़क धंसने लगती है जिससे दुर्घटना की आशंका बनी हुई है। ग्रामीणों सहित क्षेत्रीय लोगों ने बड़ी संख्या में विभाग को शिकायतें भी की किंतु कोई कार्यवाही नहीं होने से ठेकेदार के हौसले बुलंद हंै। कार्रवाई नहीं होने की स्थिति में अब स्थानीय नागरिकों ने चक्काजाम की चेतावनी दी है।

system
Nakul Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned