अब पूरा राजनांदगांव जिला हुआ लॉकडाउन, स्थिति हुई गंभीर ...

प्रतिबंधित दुकानें या प्रतिष्ठान खोले जाने पर होगी कड़ी कार्रवाई

राजनांदगांव. कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए अब पूरा राजनांदगांव जिला लॉकडाउन कर दिया गया है। कलक्टर जयप्रकाश मौर्य ने एक आदेश जारी कर 31 मार्च के रात 12 बजे तक राजनांदगांव जिले को पूरी तरह तालाबंदी (लॉकडाउन) करने के निर्देश दिए हैं। इस आदेश के बाद अब राजनांदगांव जिले से किसी अन्य जिले में प्रवेश या फिर किसी अन्य जिले से राजनांदगांव में प्रवेश पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा।

कलक्टर मौर्य ने कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने जिले में आपात सेवाओं को छोड़कर सभी कार्य, संस्थाओं को बंद करने के आदेश भी जारी कर दिए हैं। जिले को लॉकडाउन करने के साथ ही जिले के सभी शासकीय, अर्धशासकीय और अशासकीय कार्यालयों को बंद करने का आदेश जारी किया गया है। सभी को अपने घर से शासकीय कार्य करने कहा गया है। साथ ही किसी को मुख्यालय नहीं छोडऩे के भी निर्देश दिए गए हैं।

ये भी बंद

इमरजेंसी मेडिकल सेवा को छोड़कर जिले में सभी सार्वजनिक परिवहन सेवाएं जैसे निजी बसें, टैक्सी, ऑटो रिक्शा, ई-रिक्शा को बंद करने के निर्देश जारी किए गए हैं। आवश्यक वस्तुओं के परिवहन को छूट दी गई है। निर्देश दिए गए हैं कि सड़क, रेल या अन्य माध्यम से जिले में बाहरी लोगों का प्रवेश न हो।

इन पर भी असर

अत्यावश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानें, व्यावसायिक प्रतिष्ठान, कार्यालय, फैक्ट्री, गोदाम, साप्ताहिक हॉट बाजार को बंद रखने कहा गया है। दवा या खाद्य पदार्थ से संबंधित फैक्ट्रियों को बंद से छूट दी गई है। मनरेगा को छोड़कर सभी प्रकार के निर्माण व श्रम कार्य स्थगित कर दिए गए हैं। सभी धार्मिक, सांस्कृतिक और पर्यटन स्थल को बंद करने का आदेश जारी किया गया है।

ये प्रतिष्ठान दायरे के बाहर

कलक्टर, पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी व उनके अधीनस्थ सभी कार्यालय, अनुविभागीय दंडाधिकारी, तहसील, थाना, पुलिस चौकी, भारत सरकार के अधीनस्थ केंद्रीय कार्यालय, कानून व्यवस्था व स्वास्थ्य सेवा से संबंधित पदाधिकारी व कर्मी, स्वास्थ्य सेवाएं, दवा दुकानें, चश्मे की दुकान, खाद्य आपूर्ति से संबंधित परिवहन, राशन दुकान, खाद्य पदार्थ, किराने का सामान, दुध, ब्रेड, फल, सब्जी, चिकन, मटन, मछली, अंडा के विक्रय, वितरण, भंडारण, परिवहन, दुग्ध संयंत्र, घर जाकर दूध बांटने वाले विक्रेता व न्यूज पेपर हॉकर (सुबह 6.30 से 9.30 तक), मास्क, सेनेटाइजर, एलपीजी, बिजली, पेयजल आपूर्ति, जेल, अग्निशमन सेवा, एटीएम, टेलिकाम, मोबाइल रिचार्ज व सर्विस, पेट्रोल, डीजल, पशुचारा, पोस्टल सेवाएं, होम डिलवरी रेस्टोरेंट, सुरक्षा एजेंसी, प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया सहित कुछ संस्थाओं को लॉकडाउन में छूट दी गई है।

वरना होगी कड़ी कार्रवाई

कलक्टर ने आदेश जारी कर कहा है कि प्रतिबंधित दुकानें एवं प्रतिष्ठान खोले जाने पर कड़ी कार्रवाई करते हुए दुकानों की सीलींग, जुर्माना, लायसेंस निरस्तीकरण किया जाएगा। उन्होंने कहा है कि जिले में निषेधाज्ञा जारी रहने के कारण आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी, मूल्य वृद्धि की जा सकती है, तदानुसार आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए कठोर कार्रवाई करना सुनिश्चित करें।

दुकानों में मूल्य सूची लगाने निर्देश

आवश्यक वस्तुओं के कालाबाजारी एवं मूल्यवृद्धि को रोकने के लिए वस्तुओं को बेचने वाले पदाधिकारियों के साथ प्रति दिन ऐसे सामग्री जिन पर उत्पादक कम्पनियों द्वारा अधिकतम मूल्य अंकित नहीं होता है, मूल्य सूची जारीकी जाये। मूल्य सूची प्रत्येक दुकान संचालक अपने दुकान के सामने प्रति दिन लगाना सुनिश्चित करें। मूल्य सूची में अनुविभागीय दण्डाधिकारी का हस्ताक्षर एवं पदमुद्रा होना आवश्यक है। दुकान संचालक की जिम्मेदारी होगी कि प्रति दिन मूल्य सूची अनुविभागीय दण्डाधिकारी कार्यालय में उपस्थित होकर ले। इस कण्डिका में उल्लेखित आदेश केवल नगरीय निकाय के लिए लागू होता है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned