राजनांदगांव-खैरागढ़ मुख्य मार्ग में खदान संचालक की मनमानी, रास्ते में जेसीबी अड़ाकर करते हैं धमाका ...

पत्थर खदान संचालक मुख्य मार्ग पर पत्थर खदान में विस्फोट करने के दौरान दोनों तरफ वाहनों को अड़ाकर राहगीरों को रोके रखते हैं और धमाके के साथ पत्थर की तुड़ाई करते हैं।

By: Nitin Dongre

Published: 01 Aug 2020, 07:37 AM IST

ठेलकाडीह. मुख्य मार्ग में पत्थर खदान संचालकों की मनमानी व लापरवाही कहीं किसी आम राहगीर को हादसे का शिकार न बना दें। क्योंकि ये पत्थर खदान संचालक मुख्य मार्ग पर पत्थर खदान में विस्फोट करने के दौरान दोनों तरफ वाहनों को अड़ाकर राहगीरों को रोके रखते हंै और धमाके साथ पत्थर की तुड़ाई करते हैं। गनीमत रहती है, विस्फोट के बाद उछलकर किसी के उपर गिर न जाए। यदि इस तरह की होती है, तो इसका जिम्मेदार कौन होगा।

विस्फोट के दौरान सरकारी कर्मचारी एक भी नहीं होता है। कई बार विस्फोट के बाद फैक्ट्रियों की छते तक हो नुकसान पहुंचा चुके है। ऐसे में यदि आम राहगीरों पर यह घटना घटित होती है, तो सीधे यमराज से सामना होगा। जबकि इस मार्ग में अत्यधिक ट्रैफिक होती है, पल,पल छोटे बड़े वाहनों की आवाजाही होती है। इसके बाद भी खदान संचालक द्वारा इस तरह की मनमानी करते रहते है। जिसका नतीजा आम नागरिकों को भुगतना पड़ सकता है।

आम राहगीरों को रोककर परेशान कर रहे

क्षेत्र में खदान संचालकों की मनमानी का यह पहला मामला नहीं है। आए दिन खदानों में ब्लास्टिंग के लिए मार्ग में आम राहगीरों को रोककर परेशान करते हैं। ऐसे में सवाल यह है कि आखिरकार मुख्य मार्ग के समीप ऐसे खदानों को प्रशासन अनुमति क्यों देते हैं, जो मार्ग में चलने वाले आम लोगों के लिए खतरा बना बना हो। चवेली-ठेलकाडीह सहित इस मार्ग में कई पत्थर खदाने हैं। यह खदान अलग-अलग सफेदपोश लोगों द्वारा संचालित किया जा रहा है, जिसके कारण विभाग के अधिकारी भी खामोश बैठे रहते हैं।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned