आमनेर की बाढ़ में बह गई डेढ़ दर्जन किसानों की फसल

अब किसान कर रहे मुआवजे की मांग

By: Nakul Sinha

Published: 20 Jul 2018, 01:03 PM IST

राजनांदगांव / खैरागढ़. दो दिन की बारिश से आए आमनेर नदी में उफान के चलते प्रधानपाठ से छोड़े गए पानी के बहाव में इलाके के सिवनी के किसानों की फसल पानी में बह गई। सिवनी के ड़ेढ दर्जन से अधिक किसानों की खेत में लगाई गई फसल आमनेर के बहाव मे बह गई। अब किसान इसकी भरपाई की मांग कर रहे है। बताया गया कि किसान मामले को लेकर प्रशासन को इसकी शिकायत कर मुआवजे की मांग भी करेंगे। हालंकि प्रशासन ऐसी किसी भी प्रकार की जानकारी नही होने का हवाला दे रहा है।

बैराज से छोड़ा गया था पानी
वनाचंल ग्राम सिवनी के सियाराम मंडावी, कार्तिकराम, आशाराम चंद्रवंशी, कुंभलाल, दसरू मरकाम आदि ने बताया कि शनिवार और रविवार को इलाके मे हुई जोरदार बारिश के चलते प्रधानपाठ बैराज लबालब हो गया। सुरक्षा की दृष्टि से सिंचाई विभाग द्वारा मंगलवार को प्रधानपाठ बैराज के गेट खोलकर लगभग 9 सौ क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। प्रधानपाठ बैराज के निचले भाग में विभाग द्वारा बाढ़ नियंत्रण वाल का निर्माण किया जा रहा है जिसके कारण नदी के मुख्य मार्ग को निर्माण के दौरान पानी से बचाने नदी को डायवर्ट किया गया है।

सिवनी नाले में मिला
इसके लिए सिवनी की ओर जानी वाले नाले मे मिला दिया गया था। पानी छोड़ जाने के दौरान उक्त जल मार्ग से पानी का बहाव सिवनी की ओर पहुँच गया। ग्रामीणो ने बताया कि नदी को काटने के दौरान किए गए गडढे को बाद मे पाटने की बात निर्माण मे लगे कर्मियो द्वारा की गई थी लेकिन नही पाटा गया जिसके चलते पानी का बहाव सिवनी की ओर तेजी से बढ़ा। किसानो ने बताया कि मामले की जानकारी विभाग को देने के बाद भी कोई कार्यवाही नही हो पाई। ग्रामीण अब मुआवजे के लिए एसडीएम को इसकी शिकायत करेंगे।

20 एकड़ फसल नाश
सिवनी के ग्रामीणों ने बताया कि पानी के तेज बहाव के कारण सिवनी के 25 से अधिक किसानों की बीस एकड़ मे लगाई गई फसल पूरी तरह बह गई। इसमें सियाराम के एक एकड़ मे लगी राहर, कार्तिक के आधा एकड़ मे लगा धान, आशाराम की आधा एकड़ राहर आधा मे धान, कुंभलाल के आधा एकड़ की धान और दसरू मरकाम के एक एकड़ में लगा उड़द और धान की फसल शामिल है। किसान कुंभलाल द्वारा नए डोली का निर्माण कराया गया पानी के बहाव मे लगाई गई फसल के साथ पूरा मेड़ भी बहाव मे बह गया।

क्या कहते है जिम्मेदार अधिकारी व जनप्रतिनिधि
एसडीओ खैरागढ़ एसएन शर्मा ने कहा कि किसानों की फसल बहने की जानकारी नही है किसी भी ग्रामीण या किसान ने इसकी शिकायत या जानकारी भी नही दी है ऐसी बात है तो इसका पता कर जानकारी जरूर लेंगे।
जनपद सदस्य भागीरथी नेताम का कहना है कि किसानो की लगाई गई फसल प्रधानपाठ से बिना जानकारी पानी छोड़े जाने के कारण बह गया है एसडीएम सहित प्रशासन से शिकायत कर किसानो के राहत के लिए निवेदन करेंगे।

Nakul Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned