छेडख़ानी मामले में आरोपी को एक-एक वर्ष का सश्रम कारावास ...

विशेष न्यायालय ने सुनाया फैसला

राजनांदगांव. अभियुक्त शिवनंदन सिन्हा आ. कीर्तनलाल सिन्हा, आयु 20 वर्ष, निवासी घुपसाल थाना छुरिया द्वारा लगभग छ: माह पूर्व कक्षा सातवीं की छात्रा के साथ छेडख़ानी किया गया था। प्रार्थिया की रिपोर्ट पर थाना छुरिया द्वारा अपराध पंजीबद्ध कर मामला जांच में लिया गया था तथा संपूर्ण विवेचना उपरांत आरोपी के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 509, पाक्सो एक्ट की धारा 11, 12 एवं अजा एवं अजजा (अत्याचार निवारण) अधिनियम की धारा 3(1) ट(क) के अंतर्गत अभियोग पत्र न्यायालय के समक्ष विचारण के लिए पेश किया गया था।

न्यायालय विशेष न्यायाधीश (एक्ट्रोसिटी एक्ट) राजनांदगांव पीठासीन न्यायाधीश मंसूर अहमद द्वारा मामले में विचारण उपरांत 18 मार्च को निर्णय घोषित कर अभियुक्त शिवनंदन सिन्हा को आरोप प्रमाणित पाए जाने पर लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम, 2012 (पॉक्सो एक्ट) की धारा 12 के तहत् एक वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1000 रूपए का अर्थदंड तथा अजा एवं अजजा (अत्याचार निवारण) अधिनियम की धारा 3(1) ट(क) के तहत् एक वर्ष के सश्रम कारावास एवं 1000 रूपए के अर्थदंड, अर्थदंड की राशि अदा न किए जाने की स्थिति में एक माह का सश्रम करावास पृथक से भुगताए जाने का दंडादेश पारित किया गया। मामले में छत्तीसगढ़ राज्य की ओर से विशेष लोक अभियोजक (एक्ट्रोसिटी), राजनांदगांव विकास शुक्ला ने पैरवी की।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned