बिजली गिरने से पक्के मकान का हिस्सा हुआ क्षतिग्रस्त, विद्युत उपकरण उड़े पर जनहानि नहीं

प्राथमिक स्वास्थ केंद्र के सभी विद्युत उपकरण उड़े

By: Nakul Sinha

Published: 14 Jun 2020, 08:28 AM IST

राजनांदगांव / ठेलकाडीह. शुक्रवार शाम चार बजे बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से पक्के मकान का एक हिस्सा पूरी तरह क्षतिग्रसत हो गया। वहीं मकान में लगे बिजली उपकरण खराब हो गए। इस घटना के बाद से जिस घरों में आकाशीय बिजली गिरी है। वहां दहशत का माहौल है। जानकारी के अनुसार उक्त मकान मरकामटोला निवासी सतीष सेन और घनाराम देवांगन का है। शाम करीब 4 बजे तेज बारिश के दौरान तेज आवाज के साथ आकाशीय बिजली गिरी। जिस जगह यह बिजली गिरी है वह मकान का पक्का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया है, ईटे दूसरे घरों में जाकर गिरी है। घर में लगे तमाम बिजली उपकरण पूरी तरह से धड़घड़ाकर एक के बाद बम जैसे आवाज होते फूंक गए।

घर में गिरी आकाशीय बिजली, बेटा व पत्नि थे अंदर
सतीष सेन ने बताया कि जिस समय बिजली गिरी उस वक्त घर में उसका बड़ा बेटा और उसकी पत्नि सुनीता सेन मौजूद थे। बारिश हो रही थी। अचानक बिजली कड़की और तेज आवाज में सभी टीवी, पंखा सहित सभी उपकरण फूंक गए। एक पल के लिए तो दोनों के होश उड़ गए। कुछ देर बाद सतीष को फोन लगाए तब घर जाकर देखा तो मकान में गिजली गिरने की जानकारी हुई। स्वास्थ केंद्र के जनरेटर व विद्युत उपकरण उड़े: मरकामटोला में स्थित स्वास्थ केंद्र में लगे सभी विद्युत उपकरण पूरी तरह से खराब हो गए। विभाग के ब्रिजेश पाल सिंह ने बताया कि आकाशीय बिजली के कारण इमरजेंसी के लिए रखे जनरेटर, केंद्र में लगे पंखा, बिजली सहित सभी उपकरण एक ही झटके में फंूक गए। जिसके कारण दिनभर विद्युत उपकरण के बगैर परेशानी उठानी पड़ी।

ठेलकाडीह सबस्टेशन को फुर्सत नही
स्वास्थ्य केंद्र मेें विद्युत उपकरण के खराब होने से दिनभर स्वास्थ विभाग के स्टॉफ और मरीज गर्मी में परेशान होते रहे। बिजली के खराब होने से कई कार्य रूके रहे। जनरेटर भी पूरी तरह से खराब हो गए। इधर बिजली विभाग के इसकी सूचना दी गई। लेकिन सबस्टेशन के अधिकारी का इस इमरजेंसी व स्वास्थ्य से जुड़े होने के बाद भी उपकरण को ठीक नहीं कराया गया। मौके पर विभाग के कर्मचारी तक नहीं गए। बाद में दूसरे लोगों से उपकरण बनवाया गया।

गनीमत रही जनहानि नही हुई
आकाशीय बिजली गिरने से सहमें ग्रामीण रातभर दहशत में रहे। क्योंकि लोग जिस घर को अपना सुरक्षित समझ के रह रहे है यदि उसी घर पर कोई आफत आ जाए तो लोग कैसे सुरक्षित महसूस करे। शुक्रवार को गिरी बिजली ने लाखों के बिजली उपकरण तो फंूक गए। गनीमत रही की घनाराम के घर में उस समय कोई नही था। और सतीष के घर में उसका बेटा, पत्नि थे। लेकिन बिजली के कवरेज नहीं आए। लेकिन जरूर इस हादसें को देखकर खौफ में आ गए है। गमीमत रही कि कोई जनहानि नही हुई है। सतीष व घनाराम ने प्रशासन से क्षतिपूर्ति की मांग की है।

बिजली गिरनें से ऊंट की मौत
खैरागढ़/बाजार अतरिया. इलाकें में शुक्रवार शाम आंधी बारिश के बाद गाज गिरने से एक ऊंट की मौत हो गई। राजस्थान से ऊंट सहित भेड़ लेकर इलाकें के गोदरी गांव में आए वीराराम राजपूत ने डेरा जमाया था। शुक्रवार शाम को इलाकें में तेज बारिश के साथ बिजली भी गिरी जिसकी चपेट में आकर वीराराम के एक ऊंट की मौके पर ही मौत हो गई। ऊंट मालिक ने इसकी जानकारी पंचायत प्रतिनिधियों को दी।

Nakul Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned