कंटेनमेंट नियमों का लोग नहीं कर रहे पालन, नगर को प्रशासन ने घोषित तो किया पर नहीं दे रहे ध्यान ...

प्रशासन के ढीले रवैये से बहुत से व्यपारियों में पनप रहा है रोष

By: Nitin Dongre

Updated: 26 Jun 2020, 08:09 AM IST

अम्बागढ़ चौकी. 3 कोरोना मरीजों की पुष्टि होते ही प्रशासन में हड़कंप तो मचा। वहीं सुरक्षा की दृष्टि को मद्देनजर रखते हुए कोरोना संक्रमण पाए जाने वाले मरीजों के घरों सहित 100 मीटर तक आने वाले दायरे में दुकान और घर पाए जाने वाले क्षेत्रों तक बेरिकेट्स लगाकर मार्ग को सील कर दिया। प्रशासन ने नगर की सुरक्षा को ज्यादा गंभीरता लेते हुए निर्णय लिया और साथ ही पूरे नगरी निकाय की दुकानें बंद करवा कर मुख्य मार्गों को छोड़ 14 दिन के लिए सील कर कंटेनमेंट जोन घोषित किया।

नगर के लोगों को बेवजह बाहर न घूमने की अपील भी की। यह सिलसिला महज दो-तीन दिन में चल पाया। उसके बाद नगरीय निकाय, राजस्व विभाग, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस विभाग के प्रशानिक अधिकारी पूरे नगर को सील करना भूल गए। इसके बाद से नगर में लोग कंटेनमेंट जोन का पालन करते नजर नहीं आ रहे हैं। इसके चलते लोग बेवजह घरों से बाहर घूमते फिरते नजर आ रहे हंै। वहीं बिना मास्क के घूमते दिख रहे हैं जिन पर प्रशासन के नियमों का कोई फर्क नही पड़ रहा है। प्रशानिक अधिकारी ही नगर को कंटेनमेंट जोन घोषित कर भूल जो गए हैं।

प्रशासन के ढीले रवैये से बहुत से व्यपारियों में पनप रहा है रोष

नगरी निकाय को 14 दिनों के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित करने के बाद से पूरा नगर बंद है जिसके कारण कई लोगों को किराना सामान से लेकर अपनी जरूरत के सामानों के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं राहत देते हुए मोहला एसडीएम बघेल ने बैठक लेकर किराना व्यसायियों को गाइड लाइन जारी कर दुकान न खोलते हुए ग्राहकों को किराना सामान उपलब्ध कराने के लिए कहा गया।

चालान काटा जा रहा है

सीएमओ नगर पंचायत अंबागढ़ चौकी नरेश वर्मा ने कहा कि हमारे द्वारा नगर का समय-समय पर निरीक्षण किया जा रहा है। अगर कोई नियम का पालन नहीं कर है तो उसका चालान काटा जा रहा है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned