गबन किसी और ने किया अब किसानों को डिफाल्टर बताकर नहीं दे रहे खाद-बीज

गबन किसी और ने किया अब किसानों को डिफाल्टर बताकर नहीं दे रहे खाद-बीज
Cooprative society, Farmers, Peculation, Chitting, Fraud, Forgery, Fertilizer, Seeds

Satyanarayan Shukla | Publish: Jun, 20 2017 11:59:00 PM (IST) Rajnandgaon, Chhattisgarh , india

समिति के अधिकारियों, कर्मचारियों ने गबन कर किसानों की राशि को बैंक में जमा नहीं कराया। किसानों को कर्जदार बताते हुए डिफाल्टर घोषित कर खाद-बीज नहीं दिया जा रहा है।

राजनांदगांव. गैंदाटोला सेवा सहकारी समिति में लाखों रुपए के गबन का मामला सामने आया है। जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक की ओर से इसकी जांच कराई जा रही है। वहीं समिति के अधिकारियों, कर्मचारियों ने गबन कर किसानों की ओर से जमा की गई राशि को बैंक में जमा नहीं कराया। इसके चलते क्षेत्र के चार गांवों के लगभग 90 प्रतिशत किसानों को कर्जदार बताते हुए डिफाल्टर घोषित कर इस सीजन में खाद-बीज और कृषि लोन नहीं दिया जा रहा है। इसके चलते किसान संकट में हैं।

किसानों के खाते में बैलेंस

मंगलवार को इसी मुद्दे को लेकर किसान एकजुट हुए और जमकर हंगामा किया। समिति की ओर से किसानों को लोन अदा करने के लिए नोटिस जारी किया गया, तब पता चला कि लिंकिंग के माध्यम से कृषि लोन अदा कर दिए जाने के बाद भी समिति के लेजर में किसानों के खाते में बैलेंस बता रहा है।

क्रेडिट कार्ड और धान ख्रीदी के आधार पर खाद-बीज और ऋण
जिला किसान संघ के सुदेश टीकम, चंदू साहू, मदन साहू, छन्नी साहू ने बैठक में किसानों की ओर से मजबूती से पक्ष रखा एवं किसानों को प्रताडि़त करने से बाज आने की नसीहद दी। मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं तहसीलदार ने तत्काल क्रेडिट कार्ड या  धान रसीद को आधार मानकर खाद, बीज एवं ऋण देने का निर्देश सोसायटी प्रभारी को दिया, तब जाकर किसान शांत हुए।

ऋण अदायगी करने के बावजूद डिफाल्टर करार
किसानों ने कहा कि ऋण अदायगी करने के बावजूद डिफाल्टर करार देकर खाद, बीज, ऋण नहीं दिया जा रहा है। सीधे तौर पर यह गबन का मामला है। सोसाइटी कर्मचारियों ने आगे पैसा जमा नहीं किया। इसकी सजा किसान क्यों भुगतें। यदि तत्काल खाद-बीज, नकद ऋण नहीं मिला तो आंदोलन किया जाएगा। सड़क पर उतर जाएंगे।

सीईओ को गांव में बुलाया था
चार गांव के सैकड़ों किसानों ने मंगलवार को काम बंद रखा। गांव में त्योहार मनाकर सीताकसा, मातेखेड़ा और फाफामार के सैकड़ों किसान गैंदाटोला में जुटे थे। यहां जिला किसान संघ के पदाधिकारियों की मौजूदगी में जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के सीईओ एनके दिल्लीवार, छुरिया तहसीलदार ने किसानों की पीड़ा सुनी।

जांच जारी पर नतीजा नहीं
शिकायत होने पर जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक की ओर से इस मामले की जांच कराई जा रही है। अफसर भी स्वीकार कर रहे हैं कि यह गबन का मामला है पर यह स्पष्ट नहीं किया जा रहा है कि आरोपी अधिकारी, कर्मचारियों ने कितने लाख रुपए का गबन किया है। सूत्रों के अनुसार सोसाइटी में लगभग 2 करोड़ की हेराफेरी हुई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned