पहले असली नोट को नकली बताकर जीतते थे विश्वास, फिर करते थे ठगी, पुलिस के हत्थे चढ़े ठग

Dakshi Sahu

Publish: Nov, 14 2017 03:46:03 (IST)

Rajnandgaon, Chhattisgarh, India
पहले असली नोट को नकली बताकर जीतते थे विश्वास, फिर करते थे ठगी, पुलिस के हत्थे चढ़े ठग

आधी कीमत में नकली नोट देने और झडऩ कर नोटों की बरसात करने का झांसा देने वाले गिरोह को पुलिस ने उन्हीं के जाल में फंसाकर पकड़ा है।

राजनांदगांव. आधी कीमत में नकली नोट देने और झडऩ कर नोटों की बरसात करने का झांसा देने वाले गिरोह को पुलिस ने उन्हीं के जाल में फंसाकर पकड़ा है। इस गिरोह के पांच लोग पुलिस के हत्थे चढ़े हंै जबकि तीन की तलाश जारी है। इनके पास से करीब १२ हजार रूपए नगद बरामद किए गए हैं।

राजनांदगांव जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में करीब १५ लोगों से १० लाख रूपए की ठगी इस गिरोह ने की है। एएसपी राजेश अग्रवाल ने बताया कि पुलिस के पास सोमनी थाना क्षेत्र के टेडेसरा निवासी योगेश्वर पिता कामताराम कंवर की शिकायत आई कि रकम दुगुनी करने और नकली नोट चलाकर कमाई करने का लालच देकर उससे ठगी की गई है। पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए मामले की विवेचना शुरू की और मामले का खुलासा किया गया।

ऐसे करते थे ठगी
ठगी की घटना को आरोपी बेहद शातिर अंदाज में अंजाम देते थे। वे पहले लोगों से दोस्ती करते थे। इसके बाद विश्वास में लेकर उन्हें असली नोट के बदले दो गुना नकली नोट देेने का लालच देते थे। जाल में फंसने के बाद वे असली नोट को ही नकली बताकर देते थे और जब वह आसानी से बाजार में चल जाता था तो वे बड़ी रकम मंगाकर उससे दो गुना नकली नोट देने लोगों को तैयार करते थे।

जब उनकी बातों में आकर कोई नोट लेकर आता था तो इन्हीं आरोपियों में से ही कुछ लोग अचानक पुलिस बनकर छापा मारते थे और असली के बदले नकली नोट लेने आने वाले के रूपए को जब्त कर उसे डरा धमकाकर भगा देते थे। इसी तरह ये झडऩ के जरिए नोटों की बरसात करने का लालच देकर भी ठगी करते थे।

सूटकेश में सिर्फ ऊपर नोट, नीचे कागज
नोटों से भरा सूटकेश दिखाकर लोगों को लालच में फंसाने के लिए आरोपियों ने एक सूटकेश में कागज की गड्डी को नट बोल्ट से कस दिया था और ऊपर की ओर एक दो असली नोट रख दिए थे। आरोपियों की मानें तो इस सूटकेश का लालच दिखाकर उन लोगों ने सारी ठगी की है।

सिपाही बना ग्राहक
पुलिस ने आरोपियों को पकडऩे के लिए अपने एक सिपाही को ग्राहक बनाकर इनके पास भेजा। क्राइम ब्रांच का एक सिपाही नोट बदलने के लिए इनके पास पहुंचा और फिर आरोपियों को एक एक कर पकड़ा गया। ये आए गिरफ्त में एएसपी अग्रवाल ने बताया कि क्राइम ब्रांच और चिखली पुलिस चौकी की टीम ने सबसे पहले मुख्य आरोपी विनय तिवारी उर्फ विक्की नायडू को गिरफ्तार किया गया।

इससे पूछताछ के बाद दो अन्य आरोपी विशाल उर्फ दीपक भारती को पकड़ा गया। इसी बीच लालबाग थाना क्षेत्र के बांकल निवासी पवन साहू ने भी अपने ठगे जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई। इस मामले में श्याम मानिकपुरी उर्फ गोलू को दुर्ग से गिरफ्तार किया गया और फरार आरोपी संजय तिवारी उर्फ संजय नायडू की तलाश में टीम रवाना की गई। घुमका थाने में प्रार्थी भूपेश साहू की रिपोर्ट पर प्रणय उर्फ सोनू और अविनाश मेश्राम को गिरफ्तार किया गया। सभी के खिलाफ धारा ४२०, ३४ के तहत कार्रवाई की जा रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned