इस सदी में भी जिंदा है यहां डायनोसर देखकर रह जाएगी आपकी आंखे फटी की फटी

विश्व प्रसिद्ध बाबा अमरनाथ यात्रा पर आधारित मनोरम दृश्य पर आधारित झांकी सजाई गई है।

राजनांदगांव. उमंग गणेशोत्सव समिति हमाल पारा शनि मंदिर रोड वार्ड 25 मे इन दिनों बारह ज्योर्तिलिंग के साथ ही साथ विश्व प्रसिद्ध बाबा अमरनाथ यात्रा पर आधारित मनोरम दृश्य पर आधारित झांकी सजाई गई है। जिससे भक्त श्रद्धालुओं को गुफाओं में प्रवेश करते ही उन्हें गुफाओं में स्थापित ओम नम: शिवाय का स्वरनाद व जय घोष के साथ बर्फ से बने बेहद खूबसूरत व आकर्षक बाबा अमरनाथ जी की यात्रा का सुखद आश्चर्यचकित अनूठे व अद्धभुत अनुभूति कराती नजर आती है ।

मनमोहक विशालकाय मोर पर सवार भगवान गणेश
सामने 20 फीट ऊंची खूबसूरत आकर्षित मन मोहक विशालकाय मोर पर सवार होकर गणेशजी व माता रिधि सिधि जी के दर्शन कर रहे भक्तजनों के मुखारविंद से बरबस निकल पड़ता है। बोलो बाबा अमरनाथ की जय, बाबा अमरनाथ की जय बारह ज्योर्तिलिंग भगवान की जय, बोल बम, बोलो बम। शंकर भगवान की जय ,गणेश भगवान की जय।

झांकी का निर्माण
बहरहाल उमंग गणेशोत्सव समिति के कर्मठ अध्यक्ष सचिव तथा सक्रिय सदस्यों के द्वारा निर्मित इस झांकी को देखने दर्शनार्थियों की संख्या लगातार बढ़ रही है । उमंग गणेशोत्सव समिति के अध्यक्ष व पार्षद शरद सिन्हा ने कहा कि शहर में लगातार स्थल झांकी की कमी के चलते दूर-दराज से आने वाले ग्रामीणों की संख्या गणेश जी की प्रतिमा को देखने बहुत कम ही आते हैं वे चाहते हैं कि पहले जैसा ही गणेश समितियों के द्वारा स्थल झांकी का निर्माण किया जाए।

जिससे उनका गणपति बप्पा के दर्शन के साथ-साथ शुद्ध मनोरंजन किया जा सके और संस्कार धानी नगरी की पहचान स्थल झांकी में बरकरार रह। हालांकि अब स्थल झांकी में मंहगाई के चलते यह आसान कार्य नहीं होता। किंतु आम जनता के सहयोग व संस्कार धानी के दान दाताओं के सहयोग से उमंग गणेशोत्सव समिति के सदस्यों के इस बार विनम्रतापूर्वक प्रयासों से स्थल झांकी मे बाबा अमरनाथ यात्रा के दर्शन कराने का प्रयोग किया गया है।
पहचान दिलाने की कोशिश
समिति की मंसा है कि भगवान के भक्तों पर मंहगाई की छाया जरा भी न पड़े और मंहगाई के असर से स्थल झांकी की हो गई है। उसे पुन: जीवित की जा सके और एक बार फिर से शहर का नाम झांकी निर्मित के क्षेत्र में पहचाने जाने लगे ताकि लोगों को मनोरंजन के साथ ही साथ छोटे-छोटे व्यापार करने वाले दुकानदारों की रोजी-रोजगार का भी प्रबंध इसके माध्यम से कर कुछ हद तक बेरोजगारी भी दूर हो सके यही भावनाओं के साथ अमरनाथ यात्रा पर आधारित झांकी प्रस्तुत है।

गणेश उत्सव की धूम
शाम होते ही शहर की सङ़को मे बेतहासा भीड़ हो जाती है। गंज लाईन रामाधीन मार्ग कामठी लाईन मे ज्यादा चहल पहल। गंज लाईन में मेले का स्वरुप। बाल समाज की जुरासिक पार्क पर बनी झांकी देखने के लिए दर्शकों की लम्बी लाईन।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned