आईजी ने किया निरीक्षण, सामने आई आवास की समस्या

आईजी के पुलिस लाइन निरीक्षण के दौरान पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों की आवास की समस्या सामने आई है। करीब 75 प्रतिशत कर्मचारी किराए के मकानों में रह रहे हैं।

By: आशीष गुप्ता

Published: 05 Jun 2015, 11:55 PM IST

राजनांदगांव. जिले में तैनात पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों की प्रमुख समस्या आवास की है। अब भी तकरीबन 75 प्रतिशत कर्मचारी किराए के मकानों में रह रहे हैं। पुलिस विभाग द्वारा वनांचल सहित शहर में तैनात पुलिस कर्मियों को आवासीय सुविधा मुहैया नहीं करा पा रही है। इससे पुलिस कर्मी मुख्यालयों में नहीं रह पा रहे। यह प्रमुख समस्या दुर्ग रेंज के आईजी प्रदीप गुप्ता द्वारा लगाए गए दरबार में सामने आई है।

इसके अलावा जवानों की अन्य समस्याओं से आईजी वाकिफ हुए। पुलिस लाइन में शुक्रवार को समस्याएं सुनने के साथ ही आईजी ने जिले में पुलिस की कार्यप्रणाली में आने वाली समस्याओं के संबंध में सुझाव भी मांगे। उन्होंने पुलिस थानों को सेवा केंद्र बनाकर जनता का विश्वास जीतकर काम करने की नसीहत दी। इस दौरान एसपी सुंदरराज पी, एएसपी शशिमोहन सिंह सहित सभी थानेदार व अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

दिक्कतों से वाकिफ
ज्ञात हो कि आईजी गुप्ता रूटीन निरीक्षण के लिए राजनांदगांव पहुंचे थे। इसके तहत उन्होंने जिला पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों के लिए समस्या दरबार लगाया। इसका उद्देश्य था कि पुलिस कर्मचारियों की निजी समस्या से सीधेतौर पर रूबरू होना और उन्हें कार्यक्षेत्र में आने वाली दिक्कतों को जानकर उसे दूर करने मिलजुलकर प्रयास करना। इससे पहले सुबह आईजी ने पुलिस लाइन में पुलिस जवानों का परेड निरीक्षण करने के बाद विभिन्न शाखाओं में जाकर पूछताछ किए। इसके बाद शाम को आई बसंतपुर थाने का औचक निरीक्षण करने पहुंचे थे।
Show More
आशीष गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned