उद्योगों और मिलों में उड़ाई जा रही नियमों की धज्जियां, सब्जी व्यापारियों पर कड़ाई ...

न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और न ही सेनिटाइजर का उपयोग हो रहा

By: Nitin Dongre

Updated: 23 Apr 2020, 04:20 PM IST

राजनांदगांव. सब्जी-भाजी बेचकर अपने परिवार का पालन-पोषण करने वाले व्यापारियों पर जिला प्रशासन सीधे चालानी कार्रवाई कर रहा है, लेकिन लॉकडाउन के नियमों का पालन नहीं करने वाले शहर के बड़े उद्योगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जा रही है। ऐसी जगहों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है न ही सेनिटाइजर का उपयोग किया जा रहा है। इसके अलावा नियमानुसार यहां काम करने वाले मजदूरों को यही रहकर कार्य करना था, लेकिन वे रोजाना अपने घर से आवाजाही कर रहे हैं। इसकी शिकायत भी सामने आ चुकी है, लेकिन जिला प्रशासन द्वारा इधर ध्यान नहीं दिया गया।

मिलों और उद्योगों में कर्मचारी व मजदूरों के रुकने व भोजन की व्यवस्था नहीं है। इस वजह से वे घर से ही रोजाना आवाजाही कर रहे हैं। जबकि यह गलत है। इस तरह उन्हें संक्रमण का खतरा बना हुआ है। इसके अलावा शहर सहित जिले भर में संचालित उद्योगों व मिलों द्वारा नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। इस ओर पर्यावरण व उद्योग विभाग का ध्यान नहीं है।

गंदगी और धुएं से लोगों को बीमारी होने की आंशका

वार्ड 42 के पार्षद ऋषि शास्त्री ने अपने वार्ड में संचालित हो रहे उद्योंगों से निकले वाली गंदगी और धुुएं के कारण लोगों में खुजली और चर्म रोग की समस्या होने की शिकायत की है। निगम से इस ओर उचित कार्रवाई की मांग करते हुए उन्होंने ज्ञापन सौंपा है। इसके अलावा वार्ड की अन्य समस्याओं को भी दूर करने की मांग रखी है, जिसमें शौचालय का उपयोग नहीं होने के कारण लोगों को मजबूरन खुले में शौच की समस्या, नालियों में पशुपालकों द्वारा गोबर को बहा देने, वार्ड में जलापूर्ति सहित अन्य समस्याओं से अवगत कराया है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned