'कोरोना' संक्रमण कफ्र्यू के बीच अपात सेवा तैनात रहे कर्मियों के जज्बे को सलाम

स्वास्थ्य विभाग के साथ जिला व पुलिस प्रशासन की भागीदारी सराहनीय, शहर में स्वास्थ्य की पांच टीम रही संदिग्धों की जांच के लिए, होम आइसोलेट होने वालों की संख्या अब 70 से अधिक

राजनांदगांव. कोरोना वायरस को हराने के लिए देश में प्रधानमंत्री द्वारा रविवार को जनता कफ्र्यू की अपील की गई थी, पूरे जिले में इसे व्यापक समर्थन मिला। शहर से लेकर गांव तक सन्नाटा रहा। लोग सुबह से शाम तक अपने घरों में ही कैद रहे। गांवों में इसके लिए बकायदा मुनादी कराई गई थी।


इस दौरान कुछ ऐसे लोग हैं, जो संक्रमण के बीच हमारी आपातकाल सेवा में तैनात रहे, इसमें जिला प्रशासन, पुलिस, मीडियाकर्मी और डॉक्टर सहित अन्य स्वास्थ्य कमियों ने तैनात रहकर सबसे अहम योगदान दी। अस्पताल व मेडिकल स्टोर खुले रहे। इसके अलावा सभी दुकान व प्रतिष्ठानें बंद रही।


स्वास्थ्य विभाग की टीम अपातकाल सेवा में लगे रहे। हालांकि रविवार होने के कारण मेडिकल कॉलेज अस्पताल सहित सरकारी अस्पतालों में ओपीडी नहीं हुई, लेकिन अपातकाल ड्यूटी के लिए डाक्टर व स्वास्थ्यकर्मी तैनात रहे। कफ्र्यू होने की वजह से सड़क दुर्घटना जैसी कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। वहीं कोरोना सस्पेक्टेड लोगों की जांच के लिए शहर में पांच टीमें तैनात रही। करीब दो दर्जन लोगों को रविवार होम आइशोलेशन में रखा गया। अब ऐसे लोगों की संख्या ७० से अधिक हो गई है। राहत की बात यह है कि अब तक राजनांदगांव में कोई भी इस वायरस से पीडि़त व्यक्ति नहीं मिला है।

पुलिस जवान रहे सक्रिय


जिले भर में कफ्र्यू के दौरान लोगों का घर से बाहर निकलना सहित एक स्थान पर चार से अधिक लोगों का होना प्रतिबंधित किया गया था। इसके पालन में जिलेभर के महिला-पुरुष पुलिस जवानों की तैनाती रही। ट्रैफिक विभाग के जवानों की भी ड्यूटी लगाई गई थी, जिन्होंने व्यवस्था व कानून व्यवस्था बनाए रखने में अहम भागीदारी निभाई।

मेडिकल की टीम तैनात


कफ्र्यू के बीच मेडिकल कॉलेज अस्पताल सहित जिले के अन्य अस्पताल व मेडिकल स्टोर चालू रहे। यहां चिकित्सक व अन्य स्टाफ के लोगों ने अपनी सेवाएं दी। संक्रमण के बीच उन्होंने अपने कर्तव्य के प्रति जो जज्बा दिखाया वह काबिले तारीफ है। शहर सहित गांवों से कोरोना को लेकर किसी संदिग्धों की जानकारी मिलने पर टीम उन तक पहुंची और उनसे लक्षण आदि के बारे में पूछते हुए एहतियातन होम आइसोलेशन में रहने की हिदायद दी।

प्रशासनिक व मीडिया टीम भी सक्रिय


कोरोना को लेकर जनता कफ्र्यू के बीच शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बाहर से आए लोगों की जानकारी लगते रही। उन लोगों को स्क्रीनिंग के लिए तैयार करने जिला प्रशासन की टीम भी लगातार ऐसे लोगों से संपर्क कर उन्हें प्रेरित और आसपास के लोगों का जागरूक करने का काम किया। लोगों को सही व प्रमाणिक जानकारी पहुंचाने के लिए मीडियाकर्मी भी मैदान में तैनात रहे।

Govind Sahu Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned