बर्बाद होते खेल मैदान को देख, खेल प्रेमियों में पनप रहा आक्रोश

बर्बाद होते खेल मैदान को देख, खेल प्रेमियों में पनप रहा आक्रोश

Nitin Dongre | Publish: Jul, 14 2018 10:19:27 AM (IST) Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

स्कूल प्रबंधन ने मैदान को बनाया अघोषित सायकल और गाड़ी स्टैंड

डोंगरगांव. शहर के युवाओं के लिए खेल-मैदान के दर-दर भटकना पड़ रहा है. नगर में कभी खेल के लिए मैदान की भरमार थी लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया, इन मैदानों को अन्य उपयोग और देखरेख के अभाव में बर्बाद होता चला गया। यही नहीं मैदान को ठेले खोमचे और अघोषित सायकल स्टैंड में तब्दील कर दिया गया। इस मामले में शासन प्रशासन का कोई ध्यान नहीं है।

बता दें कि नगर का जेंट्स क्लब मैदान कभी फु टबॉल के नाम से दूर-दूर तक विख्यात था, किन्तु यह मैदान अब पूरी तरह बर्बाद हो गया है. वहीं जबसे इंदिरा गार्डन में सब्जी मार्केट का व्यवस्थापन किया गया है, तबसे कीचड़ और ढेले-खोमचे ने इस मैदान को भर दिया है। खेल मैदान की कमी वजह से खेल-प्रेमियो में घोर-निराशा और आक्रोश पनप रहा है। शहर में खिलाडिय़ों की कमी नहीं है और इस शहर ने राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी भी दिए हैं किंतु नगर पंचायत और स्थानीय जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के चलते शहर के सभी खेल समाप्तप्राय: हैं जबकि शहर में चलने वाले प्राईवेट व शासकीय शालाओं में भी मैदानों की कमी है. जिसकी वजह से विगत कुछ वर्षों से डोंगरगांव शहर में किसी भी प्रकार के खेल का आयोजन ही नहीं होता है। ऐसे में नगर के युवा खिलाड़ी अपनी पीड़ा किसे बताएं। कुछ वर्षों पूर्व शहर में बैडमिंटन, फु टबॉल, क्रिकेट सहित अन्य आयोजन बड़े उत्साह से किया जाता था, जिसमें दूर-दूर से खिलाड़ी पहुंचते थे। डोंगरगांव फु टबॉल की नर्सरी कहलाता था किन्तु आज फुटबॉल तो छोड़ें कोई भी खेल के लिए मैदान ही नहीं बचा है।

वर्षों से बन रहा मिनी स्टेडियम

फुटबॉल प्रेमियों और नगरवासियों व्दारा मिनी स्टेडियम की मांग की गई थी जिसे पूरा भी किया गया किंतु यह मिनी स्टेडियम आज तक खिलाडिय़ों को नहीं सौंपा गया है। इस मामले में क्षेत्रीय विधायक से लेकर सांसद भी आज तक परिणाम नहीं दे पाये हैं। लाखों रूपये की लागत से बना मिनी स्टेडियम को काफी मिनी ही कर दिया गया है और यह किसी काम का नहीं है इसके बावजूद नगर पंचायत आज तक यह मिनी स्टेडियम खिलाडिय़ों को सौंप नहीं पाई है। यहीं नहीं स्कूलों के द्वारा कराये जाने वाले खेल प्रतियोगिताओं के लिए भी शहर में ना स्थान है और ना ही मैदान। स्कूल प्रबंधनों को अन्य संस्थाओं के सामने हाथ फैलाने की जरूरत पड़ती है और शहर के बच्चे खेल से दूर होते चले जा रहे हैं, जिससे उनके स्वास्थ्य में भी प्रभाव दिखता है।

मैदान का हो रहा सायकल स्टैंड के रूप में उपयोग

जेन्ट्स क्लब मैदान-गायत्री मंदिर मैदान को एक निजी स्कूल के द्वारा सायकल स्टैंड बना दिया गया है। इस मैदान का सदुयोग बगैर किसी रोक-टोक और मुफ्त में सीजी पब्लिक स्कूल प्रबंधन के द्वारा अघोषित सायकल स्टैंड, गाड़ी पार्किंग बनाकर बरसों से किया जा रहा है। ज्ञात हो कि उक्त स्कूल का निर्माण गायत्री मंदिर के पीछे हुआ है। मैदान में विगत वर्षो में फुटबॉल का राष्ट्रीय स्तर का मैच हुआ करता था किन्तु पिछले चार वर्षों से यह आयोजन नहीं हुआ, जिसका भरपूर फ ायदा स्कूल प्रबंधनउठा रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned