भाजपा के वरिष्ठ नेता को तलाश है पार्टी के अंदर छुपे विभीषण की

नगर पालिका चुनाव में क्रास वोटिंग

By: Nakul Sinha

Published: 06 Jan 2020, 11:27 AM IST

राजनांदगांव / डोंगरगढ़. 5 जनवरी को नगर पालिका में नपाध्यक्ष के लिए हुए चुनाव में परिणामों के बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता टटोलने में लगे है कि कौन पार्टी के अंदर रहकर गद्दारी किया है। यहां अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष दोनों में ही क्रास वोटिंग के बाद चुनावी स्थल से भाजपा कार्यकर्ता पतली गली से निकल गए जबकि भाजपा ने निर्दलीय प्रत्याशी अनिता इंदुरकर पर लगे 31 जनवरी को डोंगरगढ़ थाने में 420 के आरोप को झूठा करार देकर तथा उनकी अग्रिम जमानत कराकर कर अध्यक्ष पद का उम्मीदवार बनाने दांव खेला था। किंतु यह दांव नहीं चल पाया और भाजपा की हार हो गई।

खरीद फरोख्त के शिकार हुए पार्षद
जहां अब कल चुनाव में पहुंचे वरिष्ठ भाजपा नेता सहित प्रदेश स्तर के नेता भी गद्दारी करने वाले अपने निर्वाचित पार्षदों की टटोलने में लगे है। बताया जाता है कि पार्षदों के चुनाव परिणाम आते ही उसी दिन से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जाल बिछाने में लग गए थे और खरीद फरोख्त के साथ ही भाजपा के विजयी पार्षदों की कमजोर नस दबाने की कवायद तेज कर दी थी। जहां दोनों पार्टियों के पार्षद चुनाव परिणाम अलग-अलग जगहों पर साथ में थे, उसके बावजूद भाजपा के अंदर छुपे गद्दार को लेकर वरिष्ठ कार्यकर्ता मंथन करने में लगे है।

Nakul Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned