बीमार कर्मचारी को तनख्वाह दिए बिना ही नौकरी से निकाल दिया, जिला प्रशासन से न्याय की लगाई गुहार ...

प्रबंधन पर मनमानी की शिकायत जिला प्रशासन से की

By: Nitin Dongre

Updated: 10 May 2020, 06:04 AM IST

राजनांदगांव. लॉकडाउन के दौरान छग आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज मनकी में कॉलेज प्रबंधन की मनमानी सामने आई है। यहां प्रतिबंध के बाद भी कर्मचारियों को बुलाया जा रहा है। नहीं आने पर तनख्वा काटने की धमकी दी जा रही है। मजबूरन कर्मचारी काम करने जा रहे। यहां कार्यरत इलेक्ट्रीशियन मोतीपुर निवासी छत्रपाल सिंह पिता संतोष सिंह कुंजाम ने प्राचार्य पर मनमानी करने का आरोप लगाया है।

कर्मचारी ने आरोप लगाया है कि वे छग आयुर्वेदिक कॉलेज में इलेक्ट्रीशियन के रूप में पदस्थ हैं, लेकिन उसे ओटी टेक्नीशियन के रूप में दर्शाया जाता है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में सभी स्कूल, कॉलेज बंद रखने के आदेश जारी किए गए हैं। इसके बाद भी यहां कॉलेज में सभी कर्मचारियों को बुलाया जा रहा है। कार्य में नहीं आने पर काम से निकाले जाने और तनखवा नहीं दिए जाने की धमकी दी जा रही।

बीमार होने कारण नहीं जा पाया

इलेक्ट्रीशियन ने बताया कि 29 फरवरी से उनकी तबीयत खराब होने के कारण वह कॉलेज नहीं जा पाया। 19 मार्च तक अनुपस्थित रहा। इसकी जानकारी उन्होंने प्राचार्य को मौखिक रूप से दी थी। उन्होंने बताया कि जब वे 20 मार्च को कॉलेज कार्य में लौटे तो कॉलेज के प्राचार्य उनसे अभद्र व्यवहार किए। उपस्थित पंजी में हस्ताक्षर करने से मना करने लगे और मुझे कार्य में आने से मना किया गया। इस बारे में मैने कॉलेज के प्राचार्य वर्षा पी. बंजारी से बात की तो उनकी भी यही प्रतिक्रिया रही। सैलरी नहीं देने और काम पर नहीं आने की बात कहकर भगा दिया गया।

तनख्वा भी कम देते हैं

कर्मचारी ने छत्रपाल ने बताया कि कॉलेज के सैलरी स्लीप में उनकी तनख्वा 8 हजार रुपए दर्शाया गया है। जबकि उन्हें सिर्फ 4 हजार रुपए ही दिया जाता है। इसमें भी कॉलेज के नियम बताकर काट लिया जाता है। लॉकडउन के दौरान मेरी तनख्वा रोकी गई, जिसके कारण मुझे मेरे परिवार के भरण पोषण करने में समस्या हो रही है। इस पूरे मामले की शिकायत उन्होंने जिला प्रशासन से करते हुए न्याय की गुहार लगाई है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned