लॉकडाउन में स्थिति हुई गंभीर, साउंड सर्विस संचालकों ने पूर्व मुख्यमंत्री से की आर्थिक सहायता की मांग

जिले में दो हजार के लगभग व्यवसायी इस व्यवसाय से जुड़े है

By: Nakul Sinha

Published: 14 Jun 2020, 09:16 AM IST

राजनांदगांव / डोंगरगढ़. विश्वव्यापी कोरोना वायरस संक्रमण के चलते जहां एक ओर लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है जिसके चलते शादियों तथा अन्य खुशी के मौके पर डीजे, धुमाल पार्टी सहित अन्य साउंड सर्विस वाले इन दिनों आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं। साउंड सर्विस देने वाले समुदाय ने शासन प्रशासन को ज्ञापन में बताया कि बीते 3 माह से लॉकडाउन के चलते उनका व्यवसाय पूरी तरह से बंद है। वहीं दूसरी ओर शादी की परमिशन तो दे दी गई है लेकिन शादियों में साउंड सर्विस देने वाले को परमिशन नहीं है। व्यवसाय से जुड़े लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। व्यवसाय से जुड़े लोगों ने बताया कि इनका व्यवसाय वर्ष में मात्र 3 से 4 महीना ही चलता है और मुहूर्त के समय लॉकडाउन है। ऐसे में न वे किसी शादी में तथा अन्य किसी फंक्शन में अपना साउंड सर्विस दे पा रहे हैं ऊपर से इस सीजन मे काम के लिए बैंक तथा सेठ साहूकारों से कर्जा लेकर अपनी-अपनी दुकानों में सीजन को अच्छे से निपटाने के लिए सामान की खरीदारी किए थे लेकिन लॉकडाउन के चलते काम बिल्कुल जीरो हो गया है। ऐसे में इनके भूखे मरने की नौबत आ गई है साथ ही साथ इन व्यवसाय से जुड़े अधीनस्थ कर्मचारी को भी पैसे नहीं दे पा रहे है। उनकी आर्थिक स्थिति बिल्कुल ही दयनीय हो गई है इसे ध्यान में रखते हुए साउंड सर्विस का एक दल बीते दिनों पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह से मिला।

साउंड सर्विस व्यवसाय में १२ हजार मजदूर सहित उनके परिवार हो रहे प्रभावित
सिंह ने मामले को संज्ञान में लेते हुए उचित कार्रवाई की बात कही। व्यवसाय से जुड़े लोगों ने बताया कि जिले में लगभग 1500 से 2000 साउंड वाले कार्यरत हैं जिसके साथ लगभग 12000 मजदूर सहित उनके के परिवार भी प्रभावित हो रहे हैं। साथ ही टेंट वाले, कैटरिंग, फोटोग्राफर, लाइट, फूल डेकोरेशन व हलवाई सहित अन्य लोगों के व्यवसाय काफी प्रभावित हुए हैं। इसे ध्यान में रखते हुए लोगों ने प्रति सदस्य 10000 रूपए प्रति माह के हिसाब से आर्थिक मदद की गुहार लगाई है। साथ ही मदद नहीं मिलने पर राज्य स्तरीय बड़े आंदोलन करने की चेतावनी भी दी है। उन्होंने चेताया है कि चुनाव प्रचार प्रसार राजनीतिक सभाओं में अपना साउंड सर्विस नहीं देंगे और न ही वोट देने जाएंगे।

Nakul Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned