आवारा घूम रहे हैं शहर में खूंखार दरिंदे, बच्चों पर भी मंडराने लगा है खतरा, हर दिन बनाते हैं किसी न किसी को अपना शिकार ...

दुर्घटना का शिकार हो रहे लोग, प्रशासन बेबस

By: Nitin Dongre

Published: 03 Dec 2019, 09:40 AM IST

राजनांदगांव. शहर सहित जिले में आवारा कुत्तों को आतंक बढ़ते जा रहा है। झुंड में घूम रहे ये कुत्ते बच्चे-बुजुर्ग व छोटे जानवरों को अपना शिकार बना रहे हैं। ऐसे आवारा कुत्तों को पकडऩे या इनसे बचने के लिए शासन-प्रशासन के पास कोई ठोस प्लान नहीं है। ज्ञात हो कि मेडिकल कॉलेज अस्पताल में रोजाना कुत्ते काटने के बाद 10-12 मरीज पहुंच रहे हैं। इसके अलावा कुछ लोग निजी अस्पताल में भी इलाज कराने के लिए पहुंचते हैं।

मिली जानकारी अनुसार नगर निगम क्षेत्र में लगभग ८ हजार आवारा कुत्ते घूम रहे हैं। इन कुत्तों को पकडऩे के लिए निगम द्वारा कोई ठोस प्लान नहीं किया जा रहा है। आवारा कुत्तों की नसबंदी के लिए अभियान चलाया गया था, लेकिन कुछ दिन पर चलने बाद यह अभियान भी ठंडा पड़ गया।

रात में बन जाते हैं खूंखार

शहर के आऊटर के चौक-चौराहों में कुत्ते झंूड में घूमते देखे जा सकते हैं। ये कुत्ते रात के समय ज्यादा खतरनाक हो जाते हैं। देर शाम घर लौटने वालों को दौड़ाकर अपना शिकार बनाते हैं। पिछले दिनों स्टेशनपारा क्षेत्र में एक बुजुर्ग को बुरी तरह घायल किया गया था, उनका उपचार के दौरान मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मौत हो गई थी।

अस्पताल में एंटी वैक्सीन की कमी

रोजाना डॉग बाइट के मरीज मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एंटी वैक्सीन लगवाने पहुंच रहे हैं, लेकिन वैक्सीन की कमी होने की स्थिति में तीसरे-चौथे डोज वाले मरीजों को लौटा दिया जाता है, उनसे मेडिकल से खरीदकर इंजेक्शन लगाने का सलाह दे दिया जाता है।

चार साल के मासूम पर हमला

डोंगरगढ़ दंतेश्वरी वार्ड २ में चार साल के मासूम पर आवारा कुत्तों ने हमला कर दिया। बुरी तरह से घायल मासूम को प्राथमिक उपचार के बाद मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर किया गया है, जहां उसका उपचार जारी है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned