स्कूल में टिटनेस का टीका लगाने के बाद छात्रा की मौत, स्वास्थ्य विभाग ने महिला RHO को किया निलंबित

हाई स्कूल जंगलपुर में 27 अगस्त 2021 को 49 विद्यार्थियों को टिटनेस का टीका लगवाया गया। 30 अगस्त की शाम कामिनी को ठंड के साथ तेज बुखार आया। शरीर में खुजली की शिकायत होने लगी।

By: Dakshi Sahu

Published: 18 Sep 2021, 11:28 AM IST

राजनांदगांव/ छुईखदान. राजनांदगांव जिले के छुईखदान ब्लाक के जंगलपुर हाई स्कूल में छात्रा की टीटी (टिटनेस) (Tetanus vaccine) का टीका लगने के बाद तबीयत बिगड़ गई और इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने टीका लगाने वाले उप स्वास्थ्य केंद्र जंगलपुर के महिला आरएचओ शीतल चौहान को निलंबित कर दिया है।

Read More: धमतरी से NEET की परीक्षा दिलाने आई छात्रा की करंट लगने से मौत, कपड़ा सुखाने छत पर गई थी तब हुआ हादसा ...

तेज बुखार आया
मिली जानकारी अनुसार हाई स्कूल जंगलपुर में 27 अगस्त 2021 को 49 विद्यार्थियों को टिटनेस का टीका लगवाया गया। टीकाकरण के दिन शाम को दसवीं कक्षा की छात्रा घोंघा निवासी 16 वर्षीय कामिनी पिता कंगलू सिन्हा के हाथ में खुजली होने लगी। इसके बाद 30 अगस्त 2021 की शाम कामिनी को ठंड के साथ तेज बुखार आया। शरीर में खुजली की शिकायत होने लगी।

एम्स में छात्रा ने ली अंतिम सांस
2 सितंबर 2021 को नाबालिग को उल्टी और चक्कर आने की भी शिकायत आई। इसके बाद परिजनों ने उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गंडई में भर्ती कराया। कामिनी की गंभीर हालत को देखते हुए वहां से रेफर कर दिया गया। परिजन उसे कवर्धा के प्राइवेट हॉस्पिटल लेकर गए। वहां भी इलाज के बाद 3 सितंबर 2021 को रायपुर रेफर कर दिया गया। रायपुर के प्राइवेट हॉस्पिटल 4 दिन भर्ती रखने के बाद भी कामिनी की हालत में सुधार नहीं हुआ। इसके बाद उसे एम्स रेफर किया गया। एम्स हॉस्पिटल में भर्ती होने के आधे घंटे बाद उसकी मृत्यु हो गई। भारी भरकम रुपए खर्च करने के बाद भी परिजन व डॉक्टर छात्रा को नहीं बचा पाए।

महिला कार्यकर्ता को किया निलंबित
बीएमओ, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र छुईखदान डॉक्टर मनीष बघेल ने बताया कि स्कूल में 49 बच्चों को टिटनेस का टीका लगाया गया था। एक बच्चे में प्रतिकूल प्रभाव होने की जानकारी मिली थी, उस बच्चे के घर जाने पर उसकी मृत्यु की सूचना मिली। मृत्यु का कारण जिस हॉस्पिटल में उसका इलाज चल रहा था। वे ही बता सकते हैं। जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने उस महिला कार्यकर्ता को निलंबित कर दिया गया है।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned