राजनांदगांव में चार साल की बच्ची की बलात्कार के बाद हत्या, आरोपी युवक को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा

पाक्सो एक्ट (POCSO Act) के तहत चार साल की नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार और उसकी हत्या करने वाले आरोपी को स्पेशल फास्ट ट्रेक कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है।

By: Dakshi Sahu

Published: 13 Sep 2021, 04:26 PM IST

राजनांदगांव. राजनांदगांव जिले में पहली बार बलात्कार और हत्या के आरोपी को कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है। सोमवार को पाक्सो एक्ट के तहत चार साल की नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार और उसकी हत्या करने वाले आरोपी को स्पेशल फास्ट ट्रेक कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है। आरोपी युवक शेखर कोर्राम के घृणित हरकत को जज ने समाज के लिए कलंक बताया। पाक्सो कोर्ट के विशेष न्यायाधीश शैलेष शर्मा ने यह सजा सुनाई। उन्होंने कहा कि बच्ची को कम से कम मौत के बाद न्याय मिलेगा।

Read More: भाजपा नेता संजीव जैन आत्महत्या मामले में पति-पत्नी गिरफ्तार, प्रेम जाल में फंसाकर महिला ने ऐंठे दो करोड़, अवैध संबंध के नाम पर करती थी ब्लैकमेल....

आरोपी के घर से बरामद हुआ था मासूम का शव
राजनांदगांव जिला मुख्यालय से करीब 9 किलोमीटर दूर खैरागढ़ मार्ग पर स्थित कांकेतरा ग्राम में एक साल पहले 22 अगस्त 2020 को चार साल की नाबालिग बच्ची से बलात्कार के बाद उसकी हत्या करने की दिल दहला देने वाली घटना सामने आई थी। पुलिस ने इस मामले में आरोपी के घर से बच्ची के शव को बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था।

दोपहर से गायब थी बच्ची
पुलिस ने बताया कि गांव में बच्ची वारदात वाले दिन के दोपहर से गायब थी। गांव वालों ने आसपास खोजबीन की और इसके बाद शाम करीब 5 बजे पुलिस को मामले की सूचना दी। सूचना के बाद पुलिस गांव में पहुंची और उसने खोजबीन शुरु की। पूरे गांव में खोजबीन करने और तालाब में जाल डालकर पतासाजी के बाद पुलिस ने गांव के हर घर में सर्च अभियान चलाया और बच्ची के घर से करीब सौ मीटर की दूरी पर एक घर से बच्ची की रक्तरंजिश लाश बरामद की गई थी। सीएसपी मणिशंकर चंद्रा ने बताया कि गांव के शेखर कोर्राम के घर से बच्ची का शव बरामद किया गया था। शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया था।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned