चुनाव लडऩे जाति प्रमाण पत्र के लिए पसीना बहा रहे क्षेत्र के भावी पंच-सरपंच

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव

By: Nakul Sinha

Published: 03 Jan 2020, 11:09 AM IST

राजनांदगांव / कौड़ीकसा. नगरी निकाय चुनाव के बाद त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए अधिसूचना जारी होते ही 30 दिसंबर से ग्रामीण प्रतिनिधि बनने नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए सेंटरों पर जाने के बाद नामिनेशन फार्म के साथ अभ्यर्थियों से जाति प्रमाणपत्र की मांग की जा रही है, जिससे भावी पंच-सरपंच को जाति प्रमाणित करने के लिए नामांकन के पहले आवश्यक दस्तावेज जुगाड़ करने के बाद तहसील कार्यालय के चक्कर काटना पड़ रहा है।

महिलाओं को हो रही ज्यादा परेशानी
नवजवानों के अपेक्षा वृद्ध अभ्यर्थियों को ज्यादा परेशानी उठाना पड़ रहा है। ज्यादा परेशानी तो दूसरे गांव से ससुराल आने वाले महिला अभ्यर्थियों को हो रही है। आवश्यक दस्तावेज वंशावली व मिसल रिकार्ड मायके से लाने के लिए बाध्य होना पड़ा रहा है। दूसरे तहसील व जिला से आए हुए लोगों को परेशानी हो रहा है। हालांकि जिसका दस्तावेज पूर्ण है उसे अंबागढ़ चौकी तहसील मुख्यालय से चुनाव लडऩे वाले उम्मीद्वारों को तत्काल प्रमाणपत्र प्रदान किया जा रहा है, फिर भी प्रमाणपत्र को लेकर आम लोगों में नाराजगी देखने को मिल रहा है।

बिना जाति प्रमाण पत्र के भर सकते हैं नामांकन
एसडीएम मोहला, सीपी बघेल ने कहा कि जाति प्रमाणपत्र की मांग नहीं करने का निर्देश दिया गया है। अभ्यर्थी बिना जाति प्रमाणपत्र के भी नामांकन पत्र दाखिल कर सकते हैं।

Nakul Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned