विधायक ने खुद चलवाने की बात की थी खनिज अमला नहीं कर रहा जांच

विधायक ने खुद चलवाने की बात की थी खनिज अमला नहीं कर रहा जांच

Nitin Dongre | Updated: 14 Jul 2019, 05:03:08 AM (IST) Rajnandgaon, Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

मेढ़ा में चले अवैध रेत खदान की जांच में ढिलाई

राजनांदगांव. डोंगरगांव क्षेत्र के मेढ़ा में अवैध रूप से रेत खदान चलाए जाने के मामले में खनिज विभाग ने अब तक जांच शुरू नहीं की है। करीब पखवाड़े भर पहले मेढ़ा में अवैध रेत खदान चलने का मामला सामने आने के बाद खनिज विभाग हाथ पर हाथ धरे बैठा हुआ है। मेढ़ा में रेत खदान चलाने की अनुमति देने की बात डोंगरगांव विधायक दलेश्वर साहू ने स्वीकार की थी और उनके खिलाफ कार्रवाई के लिए प्रशासन को भाजयुमो ने ज्ञापन भी सौंपा था। इसके बाद भी इस मामले में कोई जांच शुरू नहीं की गई है।

राजनांदगांव जिले में रेत के अवैध खनन के कई मामले आए लेकिन रसूखदारों पर कार्रवाई करना छोड़ खनिज विभाग ने छिटपुट कार्रवाई कर अपना काम पूरा कर लिया। सबसे बड़ा मामला डोंगरगांव क्षेत्र के मेढ़ा में आया था। यहां खनिज विभाग से खदान की स्वीकृति मिले बिना बिना रायल्टी पर्ची के लाखों रूपए की रेत निकाल ली गई। करीब महीने भर तक हर दिन २४ घंटे मशीनों के जरिए रेत की निकासी होती रही और खनिज विभाग मूकदर्शक बना रहा।

विधायक के आदेश पर चलता रहा अवैध खदान

मेढ़ा का रेत खदान डोंगरगांव के कांग्रेस विधायक दलेश्वर साहू के आदेश पर अवैध रूप से चलता रहा। विधायक साहू ने पत्रिका से बात करते हुए खुद स्वीकार किया था कि क्षेत्र के लोगों को आसानी से और कम कीमत पर रेत मिले इसलिए उन्होंने इस खदान को चलाने की अनुमति दी थी। विधायक ने यह भी कहा कि खदान चलाने वालों ने मनमानी की, इसलिए उन्होंने इसे बंद भी करा दिया। यहां सबसे बड़ा सवाल यह खड़ा हुआ कि विधायक को खदान चालू करने और फिर बंद करने का अधिकार किसने दे दिया।

भाजयुमो ने किया प्रदर्शन

विधायक के अवैध रेत खदान मामले में संलिप्तता का आरोप लगाते हुए करीब पखवाड़े भर पहले भाजयुमो ने प्रशासन को ज्ञापन सौंपा था। भाजयुमो ने विधायक साहू के खिलाफ एफआईआर करने और मेढ़ा रेत खदान की जांच करने की मांग की थी। लंबा समय बीत जाने के बाद अब तब खनिज विभाग ने इस संबंध में जांच नहीं की है। विभाग ने यह तक पता नहीं लगाया है कि मेढ़ा से किसने महीने भर तक रेत की निकासी की है। मेढ़ा के सरपंच को नोटिस देने के अलावा मामले में और किसी तरह की कार्रवाई नहीं की गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned