रोजाना शराबियों का लगा रहता है डेरा, स्कूल परिसर में शाम से रात तक जमी रहती है महफिल ...

शहर के बल्देव प्रसाद मिश्रा स्कूल में पड़े रहते हैं शराबियों के कचरे

By: Nitin Dongre

Published: 26 Jun 2020, 07:47 AM IST

राजनांदगांव. शहर के बसंतपुर वार्ड में डॉ. बलदेव प्रसाद स्कूल में शराबियों ने अपने शराब पीने का अड्ड बना दिया है। इस स्कूल परिसर में शाम के समय शराब सेवन करते या तो फिर गांजा जैसे मादक पदार्थ का सेवन करते कभी भी कोई भी मिल जाएगा। रात को यहां का माहौल किसी चखना सेंटर से कम नही रहता। बसंतपुर के आसपास के रहवासियों ने बताया कि रात में यहां असामाजिक तत्वों का डेरा लग जाता है। इस वजह से आसपास के रहवासियों को परेशानी होती रहती है।

यहां 24 घंटे बोर्ड पेपर के देख-रेख के लिए 2 गार्ड तैनात है, कुछ दिन पहले स्कूल के 1 स्टॉफ और गार्ड लोगों को भी दिन दहाड़े शराब पीते देखा गया था। जबकि स्कूल ग्राउंड में रोज सुबह शाम लड़के और लड़कियां अपने खेल के अभ्यास के लिए आते है। यदि असमाजिक तत्व अपना ऐसा ही डेरा जमाए रखेंगे तो पढऩे वाले स्कूली बच्चों में गलत प्रभाव पड़ेगा। प्रशासन को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है। यदि कोई इन शराबियों को टोकने भी जाए तो कैसे जाए क्योंकि कभी भी ये अपनी हरकत दिखा सकते हैं इसलिए नुकसान होने का डर आसपास के रहवासियों को बना रहता है। प्रशासन कोई घटना के हो जाने के बाद ही जागना चाहता है? यह भी एक सवाल है।

प्लेय ग्राउंड में ही फेंक देते हैं खाली बोतलें

खेल मैदान को शराबियों ने अपना अड्डा बना लिया है। इस विद्यालय में शिक्षा ग्रहण करने के लिए दूर-दूर से बच्चे आते हैं लेकिन अब शाम होते ही यहां शराबियों की महफिल जम जाती है। बच्चे रोजाना यहां खेलने आते हैं तो उन्हें यहां डिस्पोजल, पानी पाऊच और स्नैक्स के पैकेट फेकाए हुए दिखते हैं। इतना ही नहीं यहां शराब की बोतलें भी रहती है। खेलते-खेलते हुए बच्चों को बोतल के चुभने का भी डर बना रहता है।

मोतीपुर में तालाब के पास बने पार्क में भी यही स्थिति

शहर के मोतीपुर वार्ड नं. 3 में हनुमान मंदिर के पास तालाब के किनारे बच्चों और सेहत के लिए एक ओपन जिम बना हुआ हैं। वहां भी सुबह और शाम आए बच्चों को शराब की बोतलें और डिस्पोजल, पानी पाऊच के कचरे दिखाई देते हैं। यही स्थिति हर दिन की है। मोतीपुर के रहवासियों ने इन सभी हालातों को देखकर गार्डन में भी सीसीटीवी कैमरा लगाने की मांग की है और प्रशासन को इसके लिए जल्द ही ज्ञापन सौंपने की तैयारी भी कर ली है।

खेलने वाले बच्चे हो रहे चिंतित

खेलने आए बच्चों ने बताया कि रविवार के शाम भी प्रतिदिन की तरह युवक यहां खेलने आये थे लेकिन युवकों ने खेल शुरू ही किया था कि एक-एक कर चार युवकों के पैर में यहां फेंकी गई बोतले पड़ गई। अच्छा तो यह हुआ कि ये बोतले टुटी हुई नहीं थीं। नहीं तो जख्म होने का आशंका बनी रहती। इस घटना के बाद अब युवक इस मैदान में खेलने को लेकर चिंतित नजर आ रहे हैं।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned