गुरु का अर्थ अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने वाला: आचार्य

गुरु का अर्थ अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने वाला: आचार्य

Nakul Ram Sinha | Publish: Sep, 09 2018 01:05:39 PM (IST) Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

शिक्षक दिवस पर अंचल के स्कूलों में हुआ शिक्षकों का सम्मान

राजनांदगांव / गंडई पंडरिया. ब्रह्माकुमारीज केंद्र में 7 सितंबर को शिक्षक दिवस का आयोजन किया गया। आयोजन स्थल गंडई सेंटर में रखा गया था मंच में अतिथि डॉ.पीसीलाल यादव, प्राचार्य बलराम ठाकुर, शिक्षाकर्मी संघ के ब्लाक अध्यक्ष संजय सिंह राजपूत रहे। अतिथि डॉ. यादव ने कहा कि स्कूल में नई शिक्षा तकनीक आ गयी है समय के अनुसार हमें बदलना होगा। शिक्षकों को अपने कर्तव्यों को समझना होगा। नयी सोच शिक्षा में पैदा करनी होगी। हमें नई तकनीक को अपनाना होगा। बच्चा शिक्षक की बात सबसे ज्यादा प्रभावी ढंग से मानता है। अच्छे आचरण को अपने जीवन मे स्थान देना होगा तभी हम सफल होंगे।
गंडई ब्रह्माकुमारी सेवा केंद्र से संक्षिप्त परिचय दामिनी दीदी ने दिया। संस्था विश्व कल्याण के लिए समर्पित है। मनुष्य में छिपी परमात्मा की शक्ति को जागृत करना ही हमारी संस्था का कार्य है। गुरु का अर्थ अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने वाला होता है। आचार्य का अर्थ आचरण से सीखने वाला होता है। आजकल बच्चों को शिक्षा तो दी जाती है लेकिन जीवन की समस्या को हल करने की शिक्षा नही दी जाती है। आज मानव पैसे, हाउस, परिवार व प्रमोशन को महत्व देता है। पैसा बहुत कुछ है पर सब कुछ नही है। कार्यक्रम में लक्ष्मी ताम्रकार, प्रथा जायसवाल, सागर देवांगन, लल्ला यादव सहित शिक्षक शामिल हुए।

संस्कृत से ही संस्कार
गंडई पंडरिया. नगर के शासकीय बालक हाईस्कूल में शिक्षक दिवस पर मंचीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जिसमे कक्षा नवमीं से बारहवी के छात्रों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया इस आयोजन में गुरुजनो का सम्मान सहित छात्रों ने अपने हुनर और कला का प्रदर्शन करते हुए। संस्कृति से जुड़े देखने योग्य चित्र कला का भी प्रदर्शन किया जो देखने योग्य रहा। छात्रों के संस्कृति के प्रति सोच और विचार को देख उपस्थित जनप्रतिनिधियो व शिक्षको का मन मोह लिया
वही व्यख्याता संस्कृत साहित्य के शिक्षक आरडी दुबे ने द्वितीय संस्कृत दिवस एवं शिक्षक दिवस के शुभ अवसर पर अपने उद्बोधन में उपस्थित छात्रों को संस्कृत से ही संस्कार की बात कहते हुवे बताया है की इस आयोजन में जिस प्रकार छात्र बढ़चढ़कर हिस्सा लिए है। और संस्कृति से जुड़े विचारो को अपने कला हुनर और ज्ञान से सामने लाये है। वो प्रसंशा के काबिल है।

१०१ शिक्षकों का सम्मान
डोंगरगढ़. शिक्षक दिवस के अवसर पर गुरु शिष्य परंपरा को निभाते हुए शिक्षक पुत्र भारत भूषण मेश्राम ने हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी डोंगरगढ़ विधानसभा क्षेत्र से लगे हुए शालाओं में जाकर शिक्षक वृंद को श्रीफल, मीठा दाना भेंट कर सम्मान कर आशीर्वाद प्राप्त किया। उल्लेखनीय है कि भारत भूषण मेश्राम स्वयं एक शिक्षक पुत्र हैं। इस वर्ष उन्होंने लगभग 101 शिक्षकों को सुबह से शाम तक शालाओं में जा कर सम्मान किया।

संगोष्ठी आयोजित
साल्हेवारा. शिक्षक दिवस के अवसर पर शासकीय नवीन महाविद्यालय सल्हेवारा में छात्रों द्वारा कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें संस्था प्रभारी सुनील कवर, सनत देवांगन, विवेक चौबे, अखिलेश यादव, बीरेंद्र राव, मोहिते रंजीत मेश्राम, रश्मि सहित शिक्षक उपस्थित रहकर बच्चों का उत्साह वर्धन किया।

सेवानिवृत्त प्रधान पाठक मार्कंडेय का सम्मान
डोंगरगढ़. विकासखंड के ग्राम मोतीपुर के शाला प्रांगण में शिक्षक दिवस सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। ग्राम पंचायत मोतीपुर सरपंच राजकुमार साहू, सचिव जयंती सिन्हा तथा उपसरपंच पुरुषोत्तम चंद्रवंशी एवं पंचायत के समस्त जनप्रतिनिधि द्वारा शिक्षकों को प्रतीक चिन्ह एवं श्रीफल के माध्यम से सम्मानित किया गया। प्राथमिक शाला गोविंदपुर के सेवानिवृत्त प्रधान पाठक अग्रहित दास मार्कंडेय को भी शाल व श्रीफल से सम्मानित किया गया। ग्राम पंचायत मोतीपुर के ऐसे छात्र जिन्होंने विगत परीक्षा में उत्कृष्ट परिणाम प्राप्त किया था उन्हें उत्साहित करने हेतु मोमेंटो देकर एवं गुलाल लगाकर सम्मान किया गया। उल्लेखनीय है कि यहां के छात्र प्रयास विद्यालय एवं आईआईटी में भी अध्ययन कर रहे हैं। इस अवसर पर विकास खंड शिक्षा अधिकारी एनके पंचभावे ने शिक्षक की गरिमा को बनाए रखते हुए संवेदनशीलता के साथ बच्चों की कठिनाइयों का समाधान करने का आग्रह शिक्षकों से किया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned