मुख्यमंत्री योजना से बनी सड़क सालभर में ही धंस गई

मुख्यमंत्री योजना से बनी सड़क सालभर में ही धंस गई

Nakul Ram Sinha | Publish: Sep, 08 2018 04:02:26 PM (IST) Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

तिलई से बोईरडीह मार्ग जर्जर

राजनांदगांव / ठेलकाडीह. जहां केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों की विकास करने की सोच रखते हुए। गांव-गांव पक्की सड़कों का निर्माण कराने के लिए प्रधानमंत्री सड़क से लेकर मुख्यमंत्री सड़क योजना चलाते हुए करोड़ों रूपए खर्च किए जा रहे है। इतना ही नहीं क्षेत्रों की सूरत बदलने के लिए क्षेत्र के विधायक के प्रयास का परिणाम है कि लगातार पक्की सड़कों की स्वीकृति प्रदान करने में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है। मगर इन सड़कों के निर्माण की सच्चाई पर गौर किया जाए तो निर्माण कार्य करने वाले एंजेसियों द्वारा बरती जा रही लापरवाही के कारण निर्माण सड़क कुछ ही साल में जर्जर हो जाता है।

१३७.७२ लाख की लागत से बनी है सड़क
इसी तरह का मामला ग्राम तिलई से बोईरडीह तक सालभर पूर्व बनी सड़क अभी से बदहाल हो गई है। सालभर पूर्व मुख्यमंत्री ग्राम सड़क एवं विकास योजना के तहत तिलई से बोईरडीह तक 137.72 लाख की लागत से करीब ढाई किमी सड़क का निर्माण किया गया। चंद महीनों में ही सड़क निर्माण कार्य की गुणवक्ता की पोल खुल गई है। जगह-जगह अभी से धंस गई है। डामरीकृत हुई सड़क की पूरी पपड़ी निकल गई है। इस सड़क पर लगातार भारी वाहनों के चलने के निशान बन गए है। सड़क मानो दो भागों में बंट गया है। जिसमें राहगीरों को गिरकर घायल होने का भय हमेशा बना रहता है। गौरतलब है कि ग्रामीणों ने सड़क निर्माण के दौरान शिकायतें की, अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया। सड़क समय से पहले ही जर्जर हो गई है।

मजार का होगा विकास
डोंगरगढ़. स्थानीय कश्मीरी बाबा की मजार का विकास अब तीव्र गति से होगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से मिलकर कश्मीरी मजार के विकास के लिए मजार में शेड निर्माण की मांग की गई जिस पर सीएम ने तत्काल बारह लाख 40 हजार रूपये की स्वीकृति देते हुए शेड निर्माण की अनुमति दे दी है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned