समाजसेवियों ने जरूरतमंद लोगों की उठाई जिम्मेदारी तो नगर पंचायत ने किया किनारा

लापरवाही: अपनी जिम्मेदारी निभाने के बजाय पीछे हटा नगर पंचायत

By: Nakul Sinha

Published: 18 Apr 2020, 04:46 PM IST

राजनांदगांव / डोंगरगांव. लॉकडाउन की घोषणा के बाद से ही नगर के कुछ युवा समाजसेवियों जिनमें कुछ महिलाएँ भी शामिल हैं। उन्होंने नगर के जरूरतमंदों को शुद्ध व पौष्टिक भोजन उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी उठाई है। वहीं इनकी पहल को देखते हुए निकाय के द्वारा किसी प्रकार के सहयोग किए जाने के बजाए अपने आपको किनारा कर लिया है। हालांकि समाजसेवियों ने कहा कि उन सभी को नाम की आवश्यकता नहीं है तथा आपदा की स्थिति में हम सभी अपनी जिम्मेदारी समझकर इस कार्य को कर रहे हैं।

नगर पंचायत के अधिकारी, कर्मचारी कर्तव्य निभाने में पिछड़े
ज्ञात हो कि नगर के सभी पंद्रह वार्डों में रह रहे जरूरतमंदों की दिनरात सेवा दे रहे पुलिसकर्मियों तथा असहायजनों को इन समाजसेवियों का दल दोनों समय का भोजन उपलब्ध करा रहा है। आपदा की स्थिति में नगर के भीतर की यह जिम्मेदारी नगर पंचायत की थी तथा ग्रामीण क्षेत्रों के लिए ग्राम पंचायत व जनपद को अधिकृत किया गया था। इस संदर्भ में विगत दिनों जनपद के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में निकाय को इस कार्य में सहयोग करने की बात कही गई थी।

जनप्रतिनिधियों ने भी बनाई दूरी
लॉकडाउन की घोषणा के बाद शुरूवाती दिनों में क्षेत्र के जनप्रतिनिधि मास्क व सेनिटाईजर बांटते फोटोग्राफी करवाते नजर आए थे। वहीं अब हालात यह है कि क्षेत्र के जनप्रतिनिधि जनता से दूरी बनाकर स्वयं को आईसोलेट कर घरों में बंद हैं। वहीं इस हालात में पूरा प्रशासनिक अमला साथ ही शिक्षा विभाग अपनी सेवाएं देेने में लगा हुआ है। इस मुद्दे को लेकर सोशल मीडिया में जमकर वायरल कर प्रबुद्धजन आगे आने के बजाए तर्क-कुतर्क देने में लगे हैं, वहीं चापलूसी करने वाले लोग नेताओं का पक्ष लेने में पीछे नहीं हट रहे हैं।

Nakul Sinha Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned