छात्रा ने परीक्षा ही नहीं दिलाई और छग शिक्षा बोर्ड ने अपने हिसाब से अंक देकर फेल कर दिया ...

शासकीय कन्या स्कूल में पढऩे वाले छात्रा के परिणाम में त्रुटि

By: Nitin Dongre

Updated: 24 Jun 2020, 07:19 AM IST

अंबागढ़ चौकी. मंगलवार 23 जून को माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं और 12वीं का परिणाम घोषित किया। इससे 10वीं और 12वीं के रिजल्ट को लेकर बच्चों में उत्सुकता देखी गई। इसके साथ छात्र-छात्राओं ने अपने-अपने परिणाम को देखने माध्यमिक शिक्षा मंडल छग के द्वारा दिए गए लिंक पर दिनभर सभी ने परिणाम देखा 10वीं और 12वीं का नेट पर परिणाम देखते ही कई बच्चों के चहरे पर मुस्कान झलकी तो कुछ के चहरों पर मायूसी दिखी, लेकिन इस बार माध्यमिक शिक्षा मंडल के परीक्षा परिणाम में त्रुटियां देखने को मिली जबकि ऐसी त्रुटि की जिसे देख शिक्षक भी हैरान हो गए।

जानकारी के अनुसार नगर के शासकीय कन्या उच्चत्तर माध्यमिक शाला में पढऩे वाली जीवविज्ञान की छात्रा आराधना पिता संपत मुधेली जिसने इस वर्ष 2019-2020 12वीं की परीक्षा में शामिल ही नहीं हुई। दिए गए परीक्षा परिणाम में माध्यमिक शिक्षा मंडल ने उसे अंग्रेजी में 76 अंक और रसायन शास्त्र 23 अंक और टोटल योग 99 अंक देकर फेल तो कर दिया लेकिन सबसे चौकाने वाला तथ्य यह हुआ कि इस छात्रा ने इस वर्ष में ली गई 12वीं की सैद्धांतिक और प्रायोगिक परीक्षा में एक भी विषय पर परीक्षा दिलाने नहीं बैठी और माध्यमिक शिक्षा मंडल ने उसे दो विषय पर अंक देकर फेल कर दिया।

छात्रा एक भी दिन परीक्षा दिलाने नहीं आई

स्कूल से जानकरी लेने पर पता चला कि परीक्षा के दौरान छात्रा एक भी दिन परीक्षा दिलाने नहीं आई। उसकी परीक्षा उपस्थिति पत्रक में सभी दिन अनुपस्थिति रही। फिर भी किस तरह छात्रा को अंक दिए गए यह यह सोचने वाली बात है।

शिक्षा मंडल की त्रुटि या उत्तरपुस्तिका जांच करने वाले है जिमेदार

इस बार कोरोना संक्रमण से फैले माहामारी ने लोगों को तो काफी हद तक परेशान कर रखा है जिसके चलते स्कूल की परीक्षा और पढ़ाई से लेकर पूरा शिक्षा व्यवस्था चरमरा गई थी। फिर भी शासन-प्रशासन ने शिक्षा व्यवस्था को बनाए रखने के लिए हर संभव प्रयास में लगी रही। उन्हीं के बीच 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिका जांच के लिए भी दिक्कतें आई जिसके लिए शिक्षा विभाग ने शिक्षकों को घर बैठे ही उत्तर पुस्तिका जांच करने के लिए आदेश जारी किया। इसके आधार पर 10वीं और 12वींं की सभी उत्तर पुस्तिका घर पर ही जांच कर परिणाम शिक्षा मंडल को भेजा गया था। इसलिए यह अंदाज भी लगाया जा रहा है कि कहीं यही से परिणामो में दिक्कतें तो नहीं आई होगी और फिर खुद माध्यमिक शिक्षा मंडल इसका जिम्मेदार है।

जानकारी लेता हूं

बीईओ अंबागढ़ चौकी अर्जुन देवांगन ने कहा कि छात्रा के परीक्षा परिणाम में त्रुटि माध्यमिक शिक्षा मंडल से शायद हो सकती है। इसके संबंध में स्कूल से जानकारी लेता हूं।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned