रिजल्ट में सुधार के लिए इस बार त्रैमासिक परीक्षा का फार्मूला

रिजल्ट में सुधार के लिए इस बार त्रैमासिक परीक्षा का फार्मूला

Nitin Dongre | Publish: Sep, 11 2018 04:45:23 PM (IST) Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

शिक्षा विभाग नवमीं से बारहवीं की लेगा परीक्षा

राजनांदगांव. हाई और हायर सेकेंडरी के परीक्षा परिणाम में सुधार के लिए सरकारी स्कूलों में त्रैमासिक परीक्षा का फार्मूला इस बार भी चलेगा। पिछली बार कलक्टर ने ऐसा कराया था और इसके बेहतर नतीजे मिले थे। पिछली बार की सफलता को देखकर इस बार भी ऐसा किया जा रहा है। इस बार २२ सितम्बर से स्कूलों में त्रैमासिक परीक्षाएं होंगी।

जिला शिक्षा विभाग ने त्रैमासिक परीक्षाओं की समय सारिणी घोषित कर दी है। २२ सितम्बर से परीक्षाएं दो पालियों में होंगी। सुबह साढ़े ११ बजे से दोपहर दो बजे तक कक्षा ११ वीं और १२ वीं की परीक्षाएं होंगी जबकि दोपहर ढाई बजे से अपरान्ह पांच बजे तक नवमीं और दसवीं की परीक्षाएं ली जाएंगी।

ये मिला फायदा

स्कूलों में त्रैमासिक परीक्षाएं आयोजित करने से शिक्षा सत्र की शुरूआत से ही कोर्स को लेकर शिक्षकों और बच्चों में गंभीरता बनी रही और इसका परिणाम यह रहा कि बोर्ड परीक्षा में नतीजे पहले से बेहतर रहे। साथ ही मेरिट में भी यहां के बच्चों ने पहले से बेहतर स्थान दर्ज किया।

दिन दिनांक कक्षा नवमीं कक्षा दसवीं

शनिवार २२-०९-२०१८ सामान्य अंग्रेजी गणित
मंगलवार २५-०९-२०१८ गणित विज्ञान
बुधवार २६-०९-२०१८ विज्ञान सामाजिक विज्ञान
गुरूवार २७-०९-२०१८ संस्कृत/उर्दू विशिष्ठ हिन्दी
शुक्रवार २८-०९-२०१८ विशिष्ठ हिन्दी संस्कृत/उर्दू
शनिवार २९-०९-२०१८ सामाजिक विज्ञान सामान्य अंग्रेजी

कक्षा ग्यारहवीं

सामान्य अंग्रेजी
भौतिक, अर्थशास्त्र, एनिमल हसबैंड्री, आहर एवं प्राथमिक चिकित्सा
रसायन, राजनीति विज्ञान, व्यवसाय अध्ययन, फसल उत्पादन एवं विज्ञान के तत्व (गृह विज्ञान)
जीव विज्ञान, इतिहास, लेखा शास्त्र विज्ञान के तत्व (कृषि) एवं आहार एवं पोषण
गणित/भूगोल
विशिष्ठ हिन्दी

कक्षा बारहवीं

रसायन, लेखाशास्त्र, राजनीति विज्ञान, विज्ञान के तत्व (कृषि) आहार एवं पोषण
जीव विज्ञान, व्यवसाय अध्ययन, इतिहास, फसल उत्पादन एवं विज्ञान के तत्व (गृह विज्ञान)
गणित/भूगोल
भौतिक, अर्थशास्त्र, एनिमल हसबैंड्री, प्राथमिक चिकित्सा
विशिष्ठ हिन्दी
सामान्य अंग्रेजी

आंकलन हो रहा

एसके भरतद्वाज, डीईओ राजनंादगांव ने कहा कि त्रैमासिक परीक्षाओं के आयोजन से वार्षिक परीक्षा से पूर्व बच्चों का आंकलन हो रहा है और इसका फायदा वार्षिक परीक्षा के नतीजे पर भी पड़ रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned