पत्नी छोड़कर चली गई तो तीन साल की बच्ची के साथ दरिंदगी कर बैठा हैवान, मासूम की खून से सनी लाश देखकर रो पड़ा पूरा गांव

जिला मुख्यालय से करीब 10 किलोमीटर दूर खैरागढ़ मार्ग पर स्थित एक गांव में शनिवार रात मानवता को शर्मशार करने वाली घटना हुई है। साढ़े 3 साल की एक बच्ची के साथ बलात्कार के बाद उसकी हत्या कर देने का दिल दहला देने वाला मामला हुआ है। (Minor girl rape and murder case in Rajnandgaon)

By: Dakshi Sahu

Published: 24 Aug 2020, 12:36 PM IST

राजनांदगांव/ठेलकाडीह. जिला मुख्यालय से करीब 10 किलोमीटर दूर खैरागढ़ मार्ग पर स्थित एक गांव में शनिवार रात मानवता को शर्मशार करने वाली घटना हुई है। साढ़े 3 साल की एक बच्ची के साथ बलात्कार के बाद उसकी हत्या कर देने का दिल दहला देने वाला मामला हुआ है। पुलिस ने मासूम बच्ची के पड़ोसी को दुष्कर्म और हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इस मामले में रात में ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। घटना चिखली पुलिस चौकी क्षेत्र की है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी ने पहले दुष्कर्म किया और फिर उसकी हत्या कर दी। शनिवार शाम बच्ची के लापता होने की सूचना मिलने पर पुलिस ने मामले में तुरंत एक्शन लिया और रात में ही बच्ची के शव को उसके पडो़स के एक घर से बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

बेहद चंचल थी बच्ची, सबको रूला गई
गांव में अपने परिवार सहित मोहल्ले में यह बच्ची सबकी लाडली थी। अपने माता-पिता की छोटी बेटी आसपास में सबकी चहेती थी और उसके गुम होने के बाद से पूरा परिवार बेसुध हालत में है। बच्ची के साथ इस तरह की घटना सामने आने के बाद पूरे गांव में मातम की स्थिति है। साथ ही गांव वालों में गुस्सा भी है। परिवार में इस मासूम बच्ची का एक बडा़ भाई है। घटना के बाद से उसकी मां के साथ ही दादा का रो-रोकर बुरा हाल है। पिता के आंसू भी नहीं रुक रहे हैं।

पत्नी छोड़कर चली गई तो तीन साल की बच्ची के साथ दरिंदगी कर बैठा हैवान, मासूम की खून से सनी लाश देखकर रो पड़ा पूरा गांव

पलंग के नीचे रखा था
पुलिस ने आरोपी शेखर को पकड़कर जब कड़ाई से पूछताछ की तब उसने मामले का खुलासा किया। उसने पुलिस को बताया कि मासूम के साथ दुष्कर्म के बाद उसे अपने घर में छिपाकर रखा है। इसके बाद पुलिस उसके घर पहुंची और तलाशी ली तो मासूम बच्ची का शव पलंग के नीचे दीवार से सटाकर कपड़े में लिपटा हुआ मिला।

अचानक हुई गायब
ग्रामीणों और पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बच्ची दोपहर अपनी सहेलियों के साथ खेल रही थी और इसके बाद वह घर नहीं पहुंची। आसपास पतासाजी करने के बाद परिजनों ने पंचायत को सूचना दी। इसके बाद शाम पांच बजे पुलिस को खबर की गई। गुमशुदा मासूम जब आसपास खोजने पर नहीं मिली तो गांव में कोटवार के माध्यम से मुनियादी कराई गई और खेत, तालाब सहित अन्य इलाकों में खोजबीन शुरु की गई। गांव के लोगों ने दूसरे गांव तक भी खोजबीन की। इस दौरान आरोपी युवक शेखर भी मासूम को खोजने के काम में जुटा रहा। खोजने के दौरान वह गाली-गलौज कर चिल्लाता रहा और यह दिखाने की कोशिश करता रहा कि बच्ची के गुम हो जाने से वह भी परेशान है। पुलिस के तालाब में जाल डालने के दौरान भी आरोपी इस काम में अन्य ग्रामीणों के साथ मदद करता रहा।

इस तरह आया पकड़ में
खोजबीन के दौरान पुलिस ने गांव में बने प्रधानमंत्री आवास की ओर रुख किया तो पाया गया कि एक मकान में बाहर से ताला लगा हुआ है और अंदर से कुछ आवाज आ रही थी। पुलिस ने उस मकान को घेरकर अंदर टार्च से देखा तो आरोपी दुबककर बैठा था। दरवाजा तोड़कर उसे वहां से निकालकर पुलिस ने अपने कब्जे में लिया और उससे पूछताछ की गई।

आदतन नशेड़ी है आरोपी
ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी युवक शेखर कोर्राम आदतन नशेड़ी है। घर सहित मोहल्ले में आय दिन शराब पीकर गाली-गलौज सहित मारपीट की घटना को अंजाम देता रहता था। उसकी इसी हरकत के चलते उसकी पत्नी उसे छोड़कर चली गई है। गांव में बच्ची के गुम होने से ग्रामीण सकते में आ गए थे। चूंकि बच्ची के परिवार के सभी लोग गांव के लोगों से मिलजुलकर प्रेम व्यवहार से रहते हैं। ऐसे में बच्ची की खोजबीन के लिए पूरा गांव जुट गया। आरोपी भी इस खोजबीन में शामिल रहा। और बच्ची को खोजने में मदद करता रहा। जब पुलिस आई और अन्य बच्चियों से पूछा गया तब शेखर का नाम सामने आया। गांव की अन्य बच्चियों ने बताया कि गुम
बच्ची को उन्होंने शेखर के साथ देखा था। इसके बाद पुलिस शेखर के घर पहुंची तो घर के बाकी लोग आराम से सो रहे थे और शेखर घर में नही था। इसके बाद पुलिस और ग्रामीणों का शक और गहरा गया। शेखर को खोजने के लिए पुलिस टीम जुट गई।

मौके पर पहुंचे नेतागण
इस घटना के बाद परिवार को ढांढस बंधाने के लिए और परिवार के सदस्यों की इस हृदय विदारक घटना में हिम्मत बढ़ाने के लिए जिला पंचायत सदस्य अशोक देवांगन, जनपद सदस्य गणेश साहू, पूर्व जनपद सदस्य शैलेंद्र देवांगन, भंडारी सहित अन्य लोग गांव पहुंचे। राजनांदगांव महापौर हेमा देशमुख ने भी अस्पताल के पोस्टमार्टम कक्ष के बाहर मासूम के पिता और पंचायत प्रतिनिधियों के साथ ग्रामीणों से बात की और ढांढस बंधाया।

फांसी की सजा की मांग की गई
अपनी मासूम बेटी के शव का पोस्टमार्टम कराने अस्पताल पहुंचे पिता किसी तरह आंसू को रोके हुए थे लेकिन उनका दर्द साफ झलक रहा था। मासूम के पिता और गांव के जनप्रतिनिधियों ने कहा कि इस तरह की दरिंदगी करने वाले आरोपी को फांसी की सजा मिलनी चाहिए।

गांव में फोर्स तैनात
एक मासूम बच्ची के साथ दरिंदगी की हद पार करने वाली घटना के बाद से पूरे गांव के लोगों में गुस्से का माहौल है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार जरूर कर लिया है लेकिन लोग उद्वेलित हैं। सीएसपी ने गांव में पुलिस बल की तैनाती की गई है। पुलिस ने आरोपी के परिजनों को एहतियातन गांव से हटा दिया है। सीएसपी मणिशंकर चंद्रा ने बताया कि सूचना के बाद शहर कोतवाली और चिखली पुलिस की टीम को लेकर प्रशिक्षु डीएसपी मयंक रण सिंह, रुचि वर्मा, टीआई वीरेन्द्र चतुर्वेदी और एसआई जहीर खान मौके पर पहुंचे और पूरे गांव में सघन सर्च अभियान चलाया गया। तालाब में जाल डालकर भी खोजबीन की गई। गांव के युवकों की टीम बनाकर घर-घर सर्च किया गया। इस तरह रात में ही बच्ची के शव को गांव के एक युवक शेखर कोर्राम के घर में पलंग के पीछे से रक्तरंजित हालत में बरामद कर लिया गया। इसके बाद आरोपी युवक शेखर को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned