क्वारंटाइन सेंटर में निकल रहे विषैले जीव, आए दिन रहती है बत्ती गुल, दहशत के साए में काट रहे रातें ...

पानी बिलकुल भी नहीं है व्यवस्था, स्वास्थ्य विभाग निभा रहे तो सिर्फ औपचारिकता

By: Nitin Dongre

Published: 01 Aug 2020, 07:44 AM IST

गंडई-पंडरिया. गंडई के निकट ग्राम पंचायत मानपुर के आश्रित ग्राम दौजरी में क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है, जिसमें रात के अंधेरे में सांप बिच्छू निकल रहे हैं। क्योंकि क्वारंटाइन के चारों ओर खुला होने के कारण वहां क्वारंटाइन हुए व्यक्ति के लिए न तो पीने के पानी का व्यवस्था है और न ही नहाने का, बिजली रात भर वैसे ही बंद है जिससे खतरा मंडराता रहता है। जानकारी के अनुसार रूसिया से लगे हुए देश किर्गिस्तान से लौटे एमबीबीएस के पढ़ाई करने गए छात्र हिमांशु जंघेल 23 जुलाई से ग्राम दौजरी के स्कूल में क्वारंटाइन हुआ है।

जानकारी अनुसार कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल ले जाने के बाद 28 जुलाई को जांच में कोरोना निगेटिव आया है, उसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग के प्रशासनिक अधिकारियों के गाइडलाइन के तहत उसे क्वारंटाइन में 14 दिन तक रखा गया है, रोज सांप-बिच्छू निकलने से कोरोना से ज्यादा सांप बिच्छू से जान का खतरा बना हुआ है। क्वारंटाइन हुए छात्र के लिए पीने, नहाने एवं कपड़ा धोने के लिए के लिए पानी की कोई व्यवस्था नहीं है। पंचायत के सचिव एवं सरपंच द्वारा कोई सुध नहीं लिया गया, जिससे पंचायत के क्वारंटाइन सेंटर में व्यवस्था पर सवाल उठ रही है। वहीं सरपंच सहित ग्रामीणों का कहना है कि सभी क्वारंटाइन में यहां रहे व्यक्ति को जैसे सुविधा दी गई है। वैसे ही इसकों भी दिया जा रहा है। अगर उस व्यक्ति को वीआईपी कल्चर की सुविधा चाहिए तो वह सक्षम है।

क्वारंटाइन सेंटर के अंदर घुस आया था सांप

हिमांशु जंघेल ने बताया कि सैम्पलिंग के बाद कोई उससे मिलने नहीं आया। सरपंच व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी नहीं आए। शुक्रवार सुबह लगभग 5 बजे क्वारंटाइन सेंटर सांप घुस आया था, जिसे मेरे पिताजी द्वारा मारा गया।

हालचाल जानने कहा गया है

जिला पंचायत सदस्य ममता राजेश पाल का कहना है कि बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था के लिए निर्देशित की हूं। जनप्रतिनिधियों को उससे मिलकर हालचाल जानने कहा गया है।

पेयजल और विद्युत संबंधी आरोप गलत

सरपंच प्रतिनिधि जैनुल खान का कहना है कि क्वारंटाइन में रह रहे व्यक्ति को अन्य की तरह ही सुविधा दी जा रही है। पेयजल एवं विद्युत संबंधी आरोप गलत है। पंचायत से जो सुविधा मिलना था वो दी जा रही है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned