राजनांदगांव: लॉकडाउन में पैरोल पर रिहा हुए दो सजायाफ्ता कैदियों ने नकली पुलिस बनकर दो ग्रामीणों को घर से उठाया

छुईखदान थाना क्षेत्र के ग्राम बोरई में पुलिस बनकर दो ग्रामीणों को झूठे केस में फंसाने की बात कहकर अवैध उगाही करने का मामला सामने आया है।

By: Dakshi Sahu

Published: 28 Oct 2020, 01:00 PM IST

राजनांदगांव. छुईखदान थाना क्षेत्र के ग्राम बोरई में पुलिस बनकर दो ग्रामीणों को झूठे केस में फंसाने की बात कहकर अवैध उगाही करने का मामला सामने आया है। पीडि़त व ग्रामीणों की सूझबूझ और पुलिस की सक्रियता से एक आरोपी गिरफ्तार हो गया है। वहीं दूसरा आरोपी फरार है। मजे की बात ये कि जो पीडि़तों को हत्या के केस में फंसाने की बात कहकर पैसे की मांग कर रहे थे, वे दोनों टिकू साहू पिता अमीलाल साहू 31 साल बोरई निवासी व बलराम उर्फ बल्लू साहू 31 साल चांदो निवासी दोनों सजायाफ्ता मुजरिम हैं।

Read more: नंदिनी एरोड्रम के पास सब्जी एजेंट से 1.90 लाख की लूट, फिल्मी स्टाइल में दो बाइक सवारों ने पीछा करके वारदात को दिया अंजाम ....

पैरोल पर रिहा हुए हैं दोनों कैदी
दोनों आरोपी कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते 27 अपै्रल को पैरोल पर छूटे हैं। इस घटना में दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 170, 171, 307, 323, 387, 388, 427, 34 के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। फरार आरोपी की सरगर्मी से तलाश जारी है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार बोराई निवासी तुलाराम साहू व नेतराम साहू के घर दो लोग बाइक क्रमांक सीजी 04 सीवी 9424 में पुलिस की वर्दी में पहुंचे। उन्हें घर से उठाया गया और दोनों को भीमपुरी सुनसान मार्ग में ले जाकर शराब बेचने व हत्या के आरोप में फंसाने की बात कहते हुए थाने चलने कहा।

झूठे केस में फंसा रहे थे ग्रामीणों को
झूठे आरोप के सेटलमेंट के लिए आरोपियों ने दोनों ग्रामीणों से एक लाख रुपए मांगे। जब ग्रामीणों ने इतनी बड़ी रकम नहीं होने की बात कही, तो 40 हजार रुपए में सौदा तय हो गया। वहां दोनों से कथित पुलिस वालों ने मारपीट करते हुए एक पैसे लेने के लिए घर भेज दिया। पीडि़त ने गांव के लोगों को सच्चाई बताई तो ग्रामीणों को शक हुआ कि ये लोग फर्जी हंै। इसके बाद एक व्यक्ति दोनों फर्जी पुलिस वालों से पूछताछ करने पहुंचा तो उसके सिर पर वार करते हुए उसे भगा दिया।

सिर पर गंभीर चोट लिए हुए व्यक्ति ने ग्रामीणों को पूरी घटना बताई। जिसके बाद गांव वाले बड़ी संख्या में पहुंचे तो दोनों आरोपी भाग निकले। ग्रामीणों ने पीछा किया। आरोपियों की बाइक लकड़ी से टकरा गई, वे गिर गए फिर खेत की ओर भाग निकले। आक्रोशित ग्रामीणों ने बाइक में तोडफ़ोड़ कर दी।

पुलिस ने बताया कि आरोपी टीकू 2008 में बोरई में हुए हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है। वहीं दूसरा आरोपी चांदो निवासी बलराम उर्फ बल्लू साहू बलात्कार का आरोपी है। ये दोनों पैरोल पर छूटे हुए हैं। थाना प्रभारी निरीक्षक शशिकांत सिन्हा ने बताया कि दूसरे आरोपी को तलाश की जा रही है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned