दो ने जीती कोरोना से जंग, संक्रमितों के परिजनों और संपर्क में आए लोगों से लिए जा रहे सैंपल, अब 6 एक्टिव मामले ...

शहर में प्रतिबंध के बाद भी दुकान खोलने पर सड़क पर उतरा पालिका प्रशासन कार्रवाई कर वसूला जुर्माना

By: Nitin Dongre

Updated: 30 Jun 2020, 08:03 AM IST

खैरागढ़. कोरोना संक्रमित मरीजों के मिलने का सिलसिला रविवार को भी जारी रहा। रविवार को भी ब्लॉक के भूलाटोला और दिलीपपुर में एकाएक संक्रमितों की पुष्टि होने के बाद स्वास्थ्य अमला सक्रिय रहा। भूलाटोला में गांव में मितानिन कार्य करने वाली महिला कोरोना संक्रमित मिली। इसका सैंपल विभाग ने पिछले सप्ताह जांच के लिए भेजा था रविवार को दोपहर बाद इसकी रिर्पोट विभाग को मिली जिसके बाद महिला को विभाग ने सीधे रायपूर एम्स भेजा गया। भूलाटोला गांव को सील करने की कार्रवाई भी की गई। देररात आई रिपोर्ट में ब्लॉक के दिलीपपुर पंचायत सरंपच का पति भी कोरोना संक्रमित निकला।

बताया गया कि सरपंच पति पिछले सप्ताह ही सर्दी खांसी बुखार होने के बाद सिविल अस्पताल इलाज के लिए पहुंचे थे। चिकित्सकों ने लक्षण देखकर उनका आरटीपीसीआर टेस्ट करा सैंपल रायपुर भेजा था। रविवार रात रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सोमवार को सुबह स्वास्थ्य अमला गांव पहुंचा और संक्रमित को राजनांदगांव कोविड अस्पताल भेजा। ब्लॉक में अब तक कुल 17 संक्रमित पाए गए हैं। इसमें सिविल अस्पताल में कार्यरत लैब टेकनीशियन सहित पांच शहर और बाकी मरीज ग्रामीण क्षेत्र के हैं। इसमें से 11 मरीजों को इलाज के बाद स्वस्थ होने के चलते डिस्चार्ज किया जा चुका है। ब्लॉक में अब 6 सक्रिय मरीज बाकी है जिनका इलाज जारी है।

परिजनों का सैंपल लिया अस्पताल में पहुंचे 17 लोगों ने दिया सैंपल

शनिवार को शहर में एक के बाद एक तीन संक्रमित मरीजों की पुष्टि होने के बाद स्वास्थ्य विभाग संक्रमितों के परिजनों और प्राथमिक संपर्क में आए लोगों के सैंपल लेने में जुटा है। रविवार को संक्रमित मरीजों के 23 से अधिक सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए। शहर में संक्रमित पाए गए सिविल लाइन निवासी सहित कपड़ा व्यवसायी और किराना व्यापारी के संपर्क में आए लोगों ने भी खुद होकर जागरूकता दिखाई और सिविल अस्पताल पहुंच अपना सैंपल दिया। अस्पताल में रविवार को ही 17 से अधिक सैंपल लिए गए। सोमवार को भी विभाग का सैंपल लिए जाने का सिलसिला चलता रहा और दिनभर में लगभग 37 सैंपल कलेक्ट किए गए। कपड़ा व्यवसायी के पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनके साथ एक कार्यक्रम में संपर्क में रहे जिला पंचायत उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह भी रविवार को होम क्वारंटाइन में चले गए। स्वास्थ्य विभाग ने उनका भी सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा है।

इधर लापरवाही जारी, कार्रवाई के बाद भी खुली रही दुकाने

शहर में लगातार पांच संक्रमित मामले सामने आने के बाद कंटेनमेंट जोन बनाए जाने के बावजूद शहर में लापरवाही जारी है। दुकाने बंद रखने किराना और सब्जी सामानों की होम डिलवरी आवश्यक सेवाओं की दुकाने भर चालू रखने के आदेश के बाद भी अन्य दुकाने खुली पाए जाने पर रविवार को पालिका प्रशासन ने लगातार कार्रवाई कर जुर्माना वसूला। कार्रवाई के बाद भी दुकानदार नहीं समझे और अधिकारियों के जाने के बाद भी दुकान खुला रख अपना काम निपटाते रहे। सोमवार को भी पालिका सीएमओ सीमा बख्शी की अगुवाई में पालिका अमला स्टेट बैंक के पीछे काम्पलेक्स पहुंचा। यहां दुकानों के शटर गिराकर दर्जन भर दुकानदार अंदर पूरा काम कर रहे थे। पालिका प्रशासन के पहुंचने के बाद इन दुकानदारों पर जुर्माने सहित अन्य कार्रवाई शुरू हुई तो नेताओं और जनप्रतिनिधियों के फोन आने शुरू हो गए। कुछ दुकानदारों ने अपनी गलती मान दुबारा नही करने की मिन्नते भी की।

आदेश जारी नहीं होने से दिक्कत

लगातार संक्रमित मरीज मिलने के बाद भी शहर के लिए विधिवत आदेश शनिवार और रविवार को भी प्रशासन ने जारी नही किया। इसे लेकर भी दुकानदार असमंजस में रहे। नगर निगम राजनांदगांव में सुबह दुकानों का संचालन करने की निर्धारित अवधि तैयार की गई है। व्यापारियों और दुकानदारों को उम्मीद है कि इस तरह की व्यवस्था शहर में भी बनाई जाएगी लेकिन आदेश नहीं होने से यहां आम लोगों के साथ छोटे दुकानदारों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लगातार दुकान बंद रहने से लोगों को सामान नहीं मिल पा रहा है। छोटे किराना व्यापारी और दुकानदार भी परेशान है। होम डिलवरी सहित अन्य व्यवस्था बड़े दुकानों तक सीमित होकर रह गई है। इसके चलते दिक्कतें बढ़ रही हैं।

होटल संचालक और लैब टेकनीशियन ने जीती कोरोना से जंग, डिस्चार्ज होकर लौटे

सोमवार को शहर को बड़ी राहत भी मिली। पिछले सोमवार को कोरोना संक्रमित होने के बाद राजनांदगांव कोविड अस्पताल में दाखिल किए गए ईतवारी बाजार होटल संचालक और सिविल अस्पताल में पदस्थ पांड़ादाह की लैब टेकनीशियन को पूरी तरह स्वस्थ होने के बाद आज डिस्चार्ज कर दिया गया। सोमवार को दोनों अपने घर लौटे। पिछले सप्ताह इन दोनों मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद शहर में संक्रमण का खाता खुला था। दोनों को सोमवार रात को शिफ्ट कर शहर को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था। दोनों कोरोना से जंग जीतकर सकुशल वापस लौटे। घर लौटने के बाद ईतवारी बाजार में व्यापारी संघ, श्रीराम गौसेवा समिति सहित परिजनों ने स्वस्थ होकर लौटे होटल संचालक का ताली बजाकर स्वागत किया। पाडादाह अपने निवास पहुंची स्वास्थ्यकर्मी लैब टेकनीशियन के घर पहुंचने पर परिजनों और आसपास के लोगों ने उसका उत्साह से स्वागत किया।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned