बाजगुड़ा पंचायत के ग्रामीणों ने सरपंच-सचिव के खिलाफ खोला मोर्चा

Govind Sahu

Publish: May, 18 2018 12:29:29 PM (IST)

Rajnandgaon, Chhattisgarh, India
बाजगुड़ा पंचायत के ग्रामीणों ने सरपंच-सचिव के खिलाफ खोला मोर्चा

शौचालय निर्माण की राशि में गड़बड़ी करने का आरोप, जनपद पंचायत में की गई शिकायत

राजनांदगांव / खैरागढ़. ब्लाक के बाजगुड़ा पंचायत के ग्रामीणों ने सरपंच व सचिव के खिलाफ मोर्चा खोलते जनपद पंचायत पहुंचकर शिकायत की। शौचालय निर्माण की राशि में गड़बड़ी करने का आरोप लगाते हुए जनपद पंचायत में शिकायत की गई है।

उल्लेखनीय है कि साल भर होने के बाद भी शौचालय निर्माण का पैसा नहीं मिलने से नाराज बाजगुड़ा पंचायत के सैकड़ों महिलाएं एवं पुरूष मंगलवार को जनपद पंचायत कार्यालय पहुंचकर शिकायत की।

कार्रवाई का भरोसा
शिकायत के दौरान ग्रामीणों ने बताया कि शौचालय निर्माण की राशि आहरण कर लेने के बाद भी सरपंच व सचिव के द्वारा हितग्राहियों को नहीं दिया जा रहा है। ग्रामीणों की शिकायत सुनने के बाद अफसरों ने जांच कराकर उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया।

पहुंचे जनपद कार्यालय
जनपद पंचायत कार्यालय पहुंचे ग्रामीण संजय कुमार, दानेश्वर, नंदलाल, गंजकुंवर, डिलेश्वरी, पालेन्द्र, सबिता, सतरूपा, हेमलता, दीपिका, हिराबती, रत्ना, खेमिन, युवराज वर्मा, कमलेश वर्मा सहित सभी ग्रामीणों ने बताया कि शौचालय निर्माण को लेकर शासन द्वारा मिली राशि का सरपंच द्वारा फर्जी बिल और आंकड़ा पेश कर आहरण कर लिया गया है।

नाममात्र सामाग्री दी गई
ज्यादातर हितग्राहियों ने स्वंय के पैसे से शौचालय बनाया है, जबकि कुछ को नाममात्र की सामग्री सरपंच द्वारा दी गई है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि राशि मिलने के बाद सचिव व सरपंच ने मिलीभगत कर राशि आहरित कर ली है। जबकि पूछने पर शासन से राशि नहीं मिलना बताया जाता है।

फर्जी हाजिरी का आरोप
ग्रामीणों ने आरोप लगाते बताया कि मनरेगा के तहत स्वीकृत काम में भी पंचों की फर्जी हाजिरी भरी जा रही है, पंचायत में 200 से ज्यादा पंजीकृत परिवार के मजदूरों को काम पर नहीं रखा जा रहा है। वहीं कार्यस्थल पर मेट की दादागिरी और अभद्रता के चलते उन्हें काफी परेशानी हो रही है।
सभी ने एक स्वर में मेट को हटाने, शौचालय निर्माण की राशि दिलाने और मामले का निराकरण होने तक काम बंद करने की मांग की है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned