कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मुसरा के ग्रामवासियों ने लिया निर्णय, बनाया अपना कानून ...

अब बिना मास्क और बेवजह घर से निकले तो भरना पड़ेगा दंड

By: Nitin Dongre

Updated: 29 Jun 2020, 07:58 AM IST

डोंगरगढ़. विकासखंड के सबसे बड़े ग्राम मुसरा में ग्रामवासियों ने कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए जागरूकता का प्रदर्शन देते हुए ग्राम के सरपंच कवल निर्मलकर ने ग्राम प्रमुखों और व्यवसायियों के साथ मिलकर बैठक आयोजित कर संपूर्ण ग्राम को कोरोना वायरस से बचाने के लिए कुछ नियम बनाए हैं और कड़ाई से पालन करने का निर्णय भी लिया गया है। विकासखंड के सबसे बड़े ग्राम मुसरा में विश्वव्यापी कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के उद्देश्य से आज ग्राम के सरपंच, समाज के प्रमुखों, व्यापारियों, गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति में बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक में सर्वसम्मति से महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। गांव में करोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए करोना वालिंटियर्स का गठन किया गया जो पूरे गांव में घूम-घूमकर लोगों को जागरूक करेंगें और ये सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी व्यक्ति बिना मास्क के घर से बाहर न निकले। यदि निकले तो अपने मुंह को मास्क अथवा कपड़े से अच्छी तरह ढंककर निकलें। यदि कोई भी बिना मास्क के घूमते पाया गया तो उसे 100 रू अर्थदंड लिया जाएगा। इसी तरह व्यापारी भी बिना मास्क के सामान नहीं बेच पाएं। यदि वो ऐसा करते हैं तो उक्त दुकानदार को 500रू की राशी दंड स्वरूप ली जाएगी और गांव में कोई भी दुकानदार प्लास्टिक, झिल्ली, डिस्पोजल का उपयोग नहीं करेगा।

बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए

बैठक में सरपंच ने ग्रामीणों से अपील की कि इन दिनों बरसात के मौसम को ध्यान में रखते हुए पानी उबालकर पीने, गरम भोजन करने, ताजा फल का सेवन करने और अपनी सुरक्षा का ख्याल रखने की अपील की। उक्त बैठक में सरपंच कंवल निर्मलकर, उपसरपंच रामशरण वैष्णव, सचिव केदान सिन्हा, ग्राम पटेल हेमसिंह ठाकुर, व्यापारी संघ अध्यक्ष बजरंग साहू, उपाध्यक्ष ओमकार लिल्हारे, सचिव राजेश कोचे, अशोक साहू, ओमप्रकाश साहू, रोजगार सहायक भारती साहू, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मुंगियाबाई साहू, सुनीता साहू, भावना श्रीरंगे, मितानिन ललिता बाई ठाकुर, रेखालाल कोचे, भुनेश्वर, दुलेश्वर, मनीष निर्मलकर, खुमान साहू और व्यापार संघ के सदस्यगण सहित ग्रामीण उपस्थित थे।

सोशल डिस्टेंसिंग का रखा गया ध्यान

ग्राम के पंचायत भवन में आयोजित उक्त बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा गया। बैठक में सभी ने दो गज दूरी का पालन करते हुए मुंह पर मास्क लगाकर बैठक में शामिल हुए। निर्णय लिया गया साथ ही बैठक में विश्वव्यापी कोरोना संक्रमण से बचने के लिए अपने-अपने विचार भी रखे। किसी भी व्यक्ति को गांव में घर से बाहर निकलते समय मास्क अथवा कपड़े से अच्छी तरह से ढंककर घर से बाहर निकलने एवं दिन में अधिक से अधिक बार किसी भी साबुन से लगभग आधा मिनट तक रगड़ कर हाथ धोने, ढाई गज दूरी का पालन करने, जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलने जैसे चीजों पर जोर दिया गया।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned