व्यवस्था को लेकर संतोष तो जताया फिर भी एक ही मांग है कि घर जाने के लिए छोड़ दिया जाए ...

लॉकडाउन में फंसे लोग रखे गए सड़क चिरचारी के शिविर में

By: Nitin Dongre

Published: 03 Apr 2020, 03:30 PM IST

राजनांदगांव. कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव के लिए लगाए गए लॉकडाउन ने बड़ी संख्या में लोगों को बेघर कर दिया है। अपने घर जाने निकले अन्य राज्यों से आये व्यक्तियों और श्रमिकों के लिए राज्य सरकार के निर्देशों के तहत प्रशासन ने नेशनल हाईवे में सड़क चिरचारी के वन विभाग के डिपो में अस्थायी राहत शिविर लगाया है। शिविर में तीन बड़े हाल और अतिरिक्त टेंट की भी व्यवस्था की गई है। सभी को संक्रमण से बचाव के लिए मास्क तथा साबुन, तेल, चादर इत्यादि का वितरण किया गया है। लोगों को लगातार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की नसीहत दी जा रही है। लोगों ने यहां की व्यवस्था पर संतोष जाहिर किया है लेकिन लोगों की एक ही मांग है कि उन्हें घर जाने के लिए छोड़ दिया जाए।

राजनांदगांव जिला मुख्यालय से करीब 63 किलोमीटर दूर बागनदी में छत्तीसगढ़ महाराष्ट्र की सीमा पर पहुंचे लोगों को मेडिकल जांच के बाद राहत शिविर में रखा गया है। प्रशासन ने पहले दिन की अव्यवस्था के बाद काफी हद तक स्थिति में सुधार किया है और शिविर में रहने वालों के लिए बिजली, पानी, मोबाइल चार्जिंग पाइंट की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। शिविर में लोगों के रेगुलर चेकअप के लिए मेडिकल टीम तैनात की गई है।

एसडीएम डोंगरगढ़, एसडीएम डोंगरगांव, डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार, नायब तहसीलदार की मौजूदगी में शिविर में रखे गए लोगों की सुविधा के लिए लगातार काम चल रहे हैं। शिविर में रहने वाले लोगों को सुबह नाश्ता एवं दोपहर और रात का खाना प्रतिदिन उपलब्ध कराया जा रहा है। आस-पास के ग्रामीण एवं पंचायतें भी शिविर संचालन में स्वैच्छिक सहयोग और व्यवस्थापन कर रहे हैं। नागपुर के पावर प्लांट में काम करने वाले झारखंड के गढ़वा जिला के रहने वाले रमजान अंसारी ने बताया कि उन्हें सुबह नास्ता और फिर दो वक्त का खाना मिल रहा है और सारी व्यवस्था ठीक है लेकिन उन्हें घर जाने दिया जाए तो यह ज्यादा बेहतर होगा।

अफसर कर रहे मानिटरिंग

सड़क चिरचारी में लगाए गए अस्थायी शिविर का पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज विवेकानंद सिन्हा, कलक्टर जयप्रकाश मौर्य, पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ला द्वारा लगातार मॉनिटरिंग की जा रही हैं। कलक्टर एवं पुलिस अधीक्षक शिविर में ठहरे व्यक्तियों को सम्बोधित कर संक्रमण से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग, साफ-सफाई इत्यादि विषयों पर जानकारी दी जा रही है।

बांटी जा रही सामग्री

कलक्टर मौर्य और पुलिस अधीक्षक शुक्ला ने गुरुवार को राहत शिविर का फिर से निरीक्षण किया और उन्होंने शिविर में रह रहे लोगों को टी-शर्ट, लोवर, गमछा, सेनिटाइजर, टावेल, साबुन, तेल व नास्ते के पैकेट बांटे। कलक्टर मौर्य ने लोगों से दूरी बनाकर रहने कहा। उन्होंने कहा कि यहां उनकी सुविधा और स्वास्थ्य का पूरा ख्याल रखा जाएगा। इस अवसर पर अपर कलक्टर ओंकार यदु, एसडीएम डोंगरगढ़ अविनाश भोई, एसडीएम डोंगरगांव विरेंद्र सिंह, एसडीएम राजनांदगांव मुकेश रावटे, डोंगरगढ़ एसडीओपी चंद्रेश ठाकुर मौजूद रहे।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned