छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह को किसने कहा लबरा, पढ़े खबर

Satya Narayan Shukla

Publish: Sep, 16 2017 11:59:24 (IST)

Rajnandgaon, Chhattisgarh, India
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह को किसने कहा लबरा, पढ़े खबर

शनिवार को किसान महापंचायत में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निशाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह रहे।

राजनांदगांव. जिले में सूखे की स्थिति निर्मित होने के बाद पूरी राजनीति किसानों पर केन्द्रित हो गई है। भाजपा और कांगे्रस ने पहले ही किसान सम्मेलन कराकर खुद को अन्नदाताओं के साथ बताने की कोशिश की। वहीं जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ भी पीछे नहीं रही। शनिवार को तुमड़ीबोड गांव में किसान महापंचायत कराकर किसानों के वोट बैंक पर सेंध लगाने की कवायद की। यहां पार्टी के प्रमुख एवं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने किसान महापंचायत को संबोधित किया। जोगी के निशाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह रहे।

दो साल का नहीं बल्कि पूरे पांच साल का बोनस चाहिए
राज्य सरकार की ओर से की गई बोनस की घोषणा पर जोगी ने कहा कि किसानों को दो साल का नहीं बल्कि पूरे पांच साल का बोनस चाहिए। जोगी ने यहां छत्तीसगढ़ी में ही पूरा भाषण दिया। बार-बार छत्तीसगढ़ी में दोहा बोलकर सरकार की खामियां गिनाई। कहा कि मुख्यमंत्री ने खुद ही घोषणा पत्र जारी कर कहा था कि धान का समर्थन मूल्य २१०० रुपए और हर साल बोनस देने की घोषणा की थी, अब जब जमीन खिसक रही है तो खुद को किसान हितैषी बताते हुए दो साल का बोनस देने की घोषणा कर फिर से ठगने की तैयारी शुरू कर दी गई है।

किसान मन घलो जान गेहे कि मुख्यमंत्री ह कईसे धोखा देवत हे

जोगी ने छत्तीसगढ़ी में कहा कि अब कोनों ये सरकार के बहकावा में नई आए। किसान मन घलो जान गेहे कि मुख्यमंत्री ह कईसे धोखा देवत हे। उन्होंने छत्तीसगढ़ी में मुख्यमंत्री डॉ. रमन को एकबार फिर लबरा कहा। जोगी ने यह भी कहा कि मैं पहला व्यक्ति हूं जिसने घोषणाओं का शपथ पत्र दिया है। अगर मेरी सरकार आती है और घोषणाओं पर अमल नहीं करूंगा तो मुझे आप कोर्ट के माध्यम से जेल भेज सकते हो। कहा कि किसी भी सरकार ने कभी इस तरह का शपथ पत्र जारी नहीं किया है।



छत्तीसगढ़ की जनता के लिए लड़ रहा हूं
जोगी ने कहा कि ईश्वर की कृपा से मैं कई पदों पर रहा। मुझे पेंशन मिल रही है। मेरे दोनों पैर टूट गए हैं। चाहता तो घर पर आराम करता, लेकिन मैंने अपने परिवार के सदस्यों को बता दिया है कि अब मेरा परिवार छत्तीसगढ़ के ढाई करोड़ लोग हैं। इनके हक के लिए ही मैं संघर्ष करने के लिए निकल पड़ा हूं। सभा को पार्टी के जिला अध्यक्ष जरनैल सिंह भाटिया, शहर जिला अध्यक्ष मेहुल मारू, प्रकाश देशलहरा ने संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन मोती उइके ने और आभार प्रदर्शन कुतबुद्दीन सोलंकी ने किया।

पीएम खाने वालों को रोक नहीं पा रहे
जोगी ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि मैं खाऊंगा और न खाने दूंगा। अच्छी बात है कि वे नहीं खा रहे हैं पर विडंबना है कि खाने वालों को पीएम नहीं रोक पा रहे हैं। मुख्यमंत्री के दलित के भोजन करने की बात पर कहा कि अब चिडिय़ा खेत चुग गई है, तब मुख्यमंत्री को जनता की याद आ रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned