10 हजार युवाओं को मिलेगा रोजगार

- बग्गड़ रिको के लिए मिली 43 करोड़ की स्वीकृति
- जल्द शुरू होगा कार्य
- 1000 करोड़ का होगा निवेश, ग्रेनाइट मंडी के रूप में होगा विकसित - सुदर्शन सिंह

By: Rakesh Gandhi

Published: 27 Jul 2020, 08:38 PM IST

देवगढ़/राजसमंद.
मगरा क्षेत्र भीम-देवगढ़ को बग्गड़ रिको औद्योगिक क्षेत्र के लिए 43 करोड़ की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति मिल चुकी है। ये जानकारी देते हुए विधायक सुदर्शनसिंह रावत ने बताया कि इस क्षेत्र में एक हजार करोड़ रुपए का निवेश होगा, जिससे क्षेत्र को ग्रेनाइट मंडी के रूप में विकसित करने में मदद मिलेगी। साथ ही इस क्षेत्र में दस हजार से अधिक युवाओं को रोजगार का मार्ग प्रशस्त होगा।
विधायक रावत ने बताया कि कोरोना महामारी में इस समय सबकुछ ठप पड़ा है। प्रदेश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने बताया कि भीम विधानसभा क्षेत्र में औद्योगिक क्षेत्र बग्गड़ के विकास के लिए राज्य सरकार ने 103 हेक्टेयर भूमि आवंटित की थी। पर्यावरण के लिहाज से गत वर्ष 6 दिसम्बर को स्वीकृति मिलने के बाद हाल ही में 14 मार्च को मुख्यमंत्री ने बग्गड़ रिको औद्योगिक क्षेत्र के शिलान्यास किया था। उन्होंने बताया कि इस औद्योगिक क्षेत्र के विकास के लिए निगम द्वारा प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति जारी कर दी गई।

इस तरह खर्च होगी राशि
सुदर्शन सिंह ने राशि की जानकारी देते हुए बताया कि आधारभूत सुविधाओं के विकास के लिए किए गए कुल 4313.40 लाख रुपए के प्रावधानों में से सर्वे व डिमार्केशन का कार्य के लिए 234.93 लाख, रोड़ व सीडी वक्र्स का कार्य के लिए 1514.81 लाख, ड्रेनेज का कार्य के लिए 1073.37 लाख, आर्बेरिक्लचर के लिए 318.78 लाख, जल सप्लाई का कार्य के लिए 494.60 लाख व पावर सप्लाई व स्ट्रीट लाईट का कार्य के लिए 676.91 लाख रुपए का प्रावधान किया गया है।

145 औद्योगिक भूखण्डों का नियोजन
उन्होंने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र में सड़क व पुलिया, ड्रेनेज, विद्युत लाइन, स्ट्रीट लाइट व पेयजल आपूर्ति आदि आधारभूत सुविधाएं जल्द से जल्द प्रदान कर औद्योगिक क्षेत्र के पूर्ण विकसित होने की शीघ्र ही घोषणा की जाएगी। औद्योगिक क्षेत्र बग्गड़ के ले-आउट प्लान में अलग-अलग साइज के 145 औद्योगिक भूखण्डों का नियोजन किया गया है। इसमें 20000 वर्गमीटर व अधिक क्षेत्रफल वाले 8 भूखण्ड, 6000 वर्गमीटर क्षेत्रफल वाले 19 भूखण्ड, 4000 वर्गमीटर क्षेत्रफल वाले 58 भूखण्ड, 3000 वर्गमीटर क्षेत्रफल वाले 4 भूखण्ड, 1950 वर्गमीटर क्षेत्रफल वाले 19 भूखण्ड, 1500 वर्गमीटर क्षेत्रफल वाले 22 भूखण्ड, 1000 वर्गमीटर क्षेत्रफल वाले 6 भूखण्ड व 500 वर्गमीटर क्षेत्रफल वाले 9 भूखण्ड हैं।

मुख्यत: ग्रेनाइट आधारित उद्योग लगेंगे
उन्होंने बताया कि इसके अलावा सड़क, पुलिया, बाउन्ड्री व भूखण्डों का डिमार्केशन का कार्य कर औद्योगिक भूखण्डों का नियमानुसार आवंटन किया जाएगा। भीम देवगढ़ विधानसभा क्षेत्र में ग्रेनाइट प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होने से इस औद्योगिक क्षेत्र मुख्यत: ग्रेनाइट आधारित औद्योगिक इकाइयां एवं इनकी एन्सीलरी व इंजीनियरिंग आदि इकाइया स्थापित होगी। इस औद्योगिक क्षेत्र के विकसित होने से मगरा क्षेत्र को विकास के पथ पर अग्रसर गति प्रदान करेगा।

Rakesh Gandhi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned