समय कैसे निकला, पता ही नहीं चला

- बंद के दौरान समय सदुपयोग

राजसमंद. लगातार घर में रहना उन लोगों के लिए वाकई कठिन होता है, जो वाकई हमेशा सक्रिय रहते हैं। इस तरह के लोग कुछ न कुछ नवाचार करते ही रहते हैं, जिनसे उनका समय कब व कैसे कट जाता है पता ही नहीं चलता। मंगलवार को कुछ ऐसे ही लोगों से चर्चा हुई तो पता चला कि उन्होंने अपने घर में रहते हुए कुछ न कुछ नया जरूर किया।

घर पर ही लड्डू गोपाल की सेवा
समय व्यतीत करना बहुत मुश्किल है, लेकिन प्रभु स्मरण करते रहने से समय कहा निकल जाता है, पता ही नहीं चलता। इन दिनों प्रभु द्वारकाधीश मन्दिर कांकरोली का लॉकडाउन 31 मार्च तक है। ऐसे में हम लोग घर पर ही लड्डू गोपाल की सेवा कर रहे हैं और आठों दर्शन पुष्टिमार्गीय प्रभु द्वारकाधीश की भावना से घर पर ही कर रह हैं। नव वर्ष 2077 की तैयारी घर में परिवार के साथ और प्रभु सेवा में बिताना है। बेटी अनिता गोरवा घर पर ही गणगौर की तैयारी करने समय व्यतीत कर रही है।
- राजकुमार गोरवा, प्रधान समाधानी, श्रीद्वारकाधीश मन्दिर


आज घर में तैयार पताका लहराएंगे
कल नववर्ष पर्व है। इस दिन हम अपने घर पर ध्वज लहराएंगे। हमेशा बाज़ार से ध्वज लाकर लगाते आए है, इस बा कोरोना से बचाव की दृष्टि से बाहर से ध्वज खरीद कर लाना संभव नहीं हो पाया। अत: घर में ही प्रभु के आशीर्वाद से प्राप्त उपरने को पताका के रूप में लहराएंगे। घर पर रहकर समय का यही सदुपयोग है।
- संगीता माहेश्वरी


पोल की सफाई कर चमकाया
बंद के दौरान घर पर बैठकर यदि कोई सार्थक काम किया जाए, तो उसकी बात ही कुछ अलग है। सहलोतों की गली राजनगर में स्थित पोल में निवासरत बाशिंदों ने लॉकडाउन के दौरान इधर-उधर जाने के बजाए पोल में सफाई अभियान चलाया और पोल का सारा कूड़ा करकट हटा कर परिसर को चमका दिया। महिलाओं के निर्देशन में पुरुषों के साथ बच्चों ने भी इसमें जमकर सहयोग किया।
- वन्दना सहलोत

Rakesh Gandhi Editorial Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned