44 साल बाद राजसमंद झील एक बार फिर लबालब होकर छलकने को आतुर है। अर्से बाद गोमती नदी में साढ़े सात फीट पानी चला, जबकि खारी फीडर में भी लगातार साढ़े छह फीट की आवक बरकरार है। पहली ही बारिश से लोगों के मन में राजसमंद झील के लबालब होने की उम्मीदें हिलोरे लेने लगी थी। इसी उम्मीद से प्रशासन ने भी राजसमंद झील छलकने पर प्रभावित गांवों के रास्ते साफ करते हुए जलागम क्षेत्र से कई मकान भी खाली करवा दिए हैं। सोमवार सुबह झील का जल स्तर 30 फीट के करीब पहुंच गया है, जिससे अगले एक- दो दिन में छलकने की उम्मीद है। झील छलकने के अलौकिक नजारे को देखने के लिए राजसमंद शहर ही नहीं, बल्कि ग्रामीण क्षेत्र से भी सैकड़ों की तादाद में सिंचाई उद्यान व वासोल पहुंच गए। रविवार शाम को मेले सा माहौल बना रहा और सोमवार अल सुबह से भी लोगों की चहलकदमी शुरू हो गई। छलकने को आतुर राजसमंद झील के साथ सेल्फी लेने वाले लोगों की होड़ाहोड़ मच गई।             ALL PHOTOS : अर्जुन पालीवाल

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned