कांग्रेस कार्यकर्ताओं में दिन में हाथापाई... फिर रजामंदी, रात को फिर मारपीट

कांग्रेस कार्यकर्ताओं में दिन में हाथापाई... फिर रजामंदी, रात को फिर मारपीट

laxman singh | Publish: Sep, 11 2018 12:30:35 PM (IST) Rajsamand, Rajasthan, India

राजसमंद में सरकार विरोधी रैली के दौरान कांगे्रसी कार्यकर्ताओं के आपस में झगडऩे का मामला

राजसमंद. कांग्रेस बंद आह्वान के दौरान चाय- नाश्ते की थडिय़ां बंद कराने की बात को लेकर कांगे्रस जिला महामंत्री चुन्नीलाल पंचोली व कांगे्रस कार्यकर्ता बहादूर सिंह चारण के बीच झड़प, हाथापाई के बाद कांगे्रस वरिष्ठ नेताओं की दखल के बाद रजामंदी हो गई। रात को कांकरोली पुराना बस स्टैंड पर चाय की थड़ी पर जिला महामंत्री के समर्थकों द्वारा कथित तौर पर चारण से मारपीट कर दी। देर रात दोनों पक्ष कांकरोली थाने पहुंचे, जहां रिपोर्ट दी गई। जानकारी के अनुसार सुभाषनगर के पास पंचोली व चारण के बीच मारपीट हो गई। उसके बाद कांगे्रस जिला अध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर व अन्य वरिष्ठ पदाधिकारियों की समझाइश के बाद दोनों पक्ष रजामंद हो गए। बाद में दोनों ही पक्षों द्वारा मीडिया में दिए बयान में भी कोई मारपीट नहीं होने की बात कही। उसके बाद रात करीब साढ़े सात बजे राठासेण माता मंदिर के पास चाय की थड़ी पर कथित कांगे्रस महामंत्री पंचोली के पारिवारिक सदस्यों व समर्थकों ने चारण से मारपीट कर दी। इसके बाद दोनों पक्षों में तनातनी हो गई और विवाद बढ़ गया। आखिर में देर रात दोनों पक्ष कांकरोली थाने पहुंच गए, जहां थाना प्रभारी गोविंदसिंह चारण को रिपोर्ट दे दी। बताया गया कि मारपीट से अन्दरुनी चोटे आई है।
इससे पहले पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांगे्रस के बंद आह्वान पर कार्यकर्ताओं ने शहर में रैली निकाल कर व्यापारियों से बंद का समर्थन देने का आह्वान किया। चाय की थडिय़ों को बंद कराने को लेकर कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा कथित तौर पर धक्कामुक्की भी की गई। इसी दौरान सुभाषनगर के पास जिला महामंत्री चुन्नीलाल पंचोली और बहादुरसिंह चारण के बीच गाली गलौच, धक्कामुक्की और हाथापाई हो गई। तभी वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने बीच-बचाव कर दोनों को छुड़ाया। उसके बाद कार्यकर्ता सौ फीट रोड व किशोरनगर होते हुए राजनगर तक पहुंचे, जहां नारेबाजी करते हुए राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।

उच्च शिक्षामंत्री का दफ्तर कराया बंद
कांगे्रस कार्यकर्ताओं की टोली राजसमंद में सौ फीट रोड स्थित उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी के कार्यालय के पास पहुंची। मंत्री का कार्यालय बंद कराने से कांग्रेस के वरिष्ठ लोग कतराते रहे। जिला महामंत्री चुन्नीलाल पंचोली, दिलीप जोशी, कुलदीप शर्मा, चन्द्रपाल चौधरी, प्रकाश कुमावत और अन्य कार्यकर्ताओं ने शटर डाउन कर दिया। इस पर भाजपा नगर महामंत्री गिरिराज कुमावत ने शटर वापस खोल दिया, तब कार्यकर्ताओं ने मंत्री के खिलाफ नारे लगाए। घबराकर वापस शटर बंद कर दिया गया।

कार्यकर्ता बोले- मामूली कहासुनी हुई
सुभाषनगर के पास दुकान, चाय-नाश्ते की थडिय़ा बंद कराने के दौरान जिला महामंत्री पंचोली व चारण के बीच हाथापाई हो गई। इस मामले में पंचोली बोले कि कोई मारपीट, हाथापाई नहीं हुई, सिर्फ कहासुनी हुई है। दूसरी ओर कार्यकर्ता चारण बोले कि पंचोली मेरे काका समान है, जो चाय-नाश्ता थड़ी वालों को बंद नहीं कराने की बात कही, जिसे पर वे उग्र हो गए गाली-गलौच की। आंदोलन में अपेक्षित सहयोग नहीं मिलने से खफा जिला महामंत्री पंचोली ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को डरपोक भी कह दिया।

ये भी थे मौजूद
इस दौरान कांगे्रस जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर, हरिसिंह राठौड़, पूर्व जिलाध्यक्ष नारायणसिंह भाटी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रदीप पालीवाल, चुन्नीलाल पंचोली, शांतिलाल कोठारी, सुंदरलाल कुमावत, दिग्विजयसिंह, महिला जिलाध्यक्ष पे्रमदेवी जाट, ब्रजेश पालीवाल, जयदेव कच्छावा, पुष्कर श्रीमाली, नरेंद्रसिंह, मुकेश भार्गव, नगरपरिषद प्रतिपक्ष नेता अशोक टांक, शौकत हुसैन, दिनेश नन्दवाना, परसराम पोरवाड़, रवि गर्ग, कुलदीप शर्मा, नारायण सुथार, मोहन सुथार, दिलीप जोशी, पीरू खींची आदि थे। इधर, कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए अल सुबह से कांकरोली, राजनगर क्षेत्र में जगह जगह अतिरिक्त पुलिस बल तैनात रहा।

रिपोर्ट नहीं दी
कथित मारपीट को लेकर चुन्नीलाल पंचोली व बहादूर सिंह चारण आए हैं। दोनों पक्षों से बातचीत की गई, जो एक दूजे पर मारपीट के आरोप लगाए हैं। दोनों की रिपोर्ट लेकर निष्पक्ष जांच कराई जाएगी और उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
गोविंदसिंह,थाना प्रभारी, कांकरोली

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned