फर्जी अंकतालिका से चुनाव लडऩे पर भाजपा नेता को जेल, बीमार होने पर ब्यावर रेफर

पंचायत समिति देवगढ़ के सदस्य चुनाव का नामांकन भरने का मामला

By: laxman singh

Published: 04 Apr 2019, 11:26 AM IST

देवगढ़. फर्जी अंकतालिका के मामले में भाजपा नेता लक्ष्मण गुर्जर ने बुधवार को अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष समर्पण कर जमानत मांगी। इस पर अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ब्रह्मानन्द शर्मा ने जमानत याचिका खारिज करते हुए 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। पंचायत समिति देवगढ़ के वार्ड दस से सदस्य का चुनाव लडऩे के लिए भरे नामांकन में फर्जी अंकतालिका संलग्न की। प्रकरण में पुलिस द्वारा एफआर लगाने पर विरोध याचिका दायर की, जिसे अदालत ने स्वीकार करते हुए आरोपी को समन जारी कर तलब किया, मगर आरोपी कोर्ट में पेश नहीं हुए। उप कारागृह भीम में प्रवेश के कुछ देर बाद तबीयत बिगड़ गई, जिन्हें भीम सीएचसी ले गए, जहां से ब्यावर रेफर कर दिया गया।

न्यायिक सूत्रों के अनुसार बंजारिया पारड़ी निवासी दलपतसिंह पुत्र मूलसिंह चुंडावत ने वर्ष 2015 में पंचायत समिति देवगढ़ के वार्ड दस से सदस्य के लिए नामांकन भरने वाले प्रत्याशी लक्ष्मण गुर्जर पर फर्जी अंकतालिका प्रस्तुत करने का आरोप लगाया। आरोप था कि प्रत्याशी लक्ष्मण गुर्जर राउप्रावि प्रथम देवगढ़ से वर्ष 1996 में सातवीं उत्तीर्ण की। फिर आठवीं में लगातार अनुपस्थित रहने से विद्यालय से नाम पृथक कर दिया। देवगढ़ स्कूल से टीवी प्राप्त किए बिना ही दसवीं की अंकतालिका तैयार कर ली, जो फर्जी है। देवगढ़ थाना पुलिस ने जांच कर एफआर लगा दी। इस पर दलपतसिंह ने अदालत में विरोध याचिका दायर की, जिसे न्यायालय ने 9 अगस्त 2016 को स्वीकार करते हुए पुलिस जांच को अस्वीकार करते हुए धारा 420, 467, 468, 471, 197 आईपीसी में प्रसंज्ञान आरोपी लक्ष्मण गुर्जर को जरिये समन के कोर्ट में तलब किया। समन प्राप्त करने के बाद भी अदालत में पेश नहीं हुए। जमानती वारंट जारी हुआ, जिसके तहत बुधवार को आरोपी लक्ष्मण गुर्जर ने कोर्ट में समर्पण कर लिया। मजिस्ट्रेट ने जमानत आवेदन पर पक्षकारों की बहस सुनने के बाद आरोपी लक्ष्मण गुर्जर की जमानत खारिज करते हुए 14 दिन तक न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए। इस पर पुलिस ने उप कारागृह भीम में प्रवेश दिला दिया।

हाईकोर्ट से भी अपील अस्वीकार
पुलिस जांच के विरुद्ध अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा लिए प्रसंज्ञान के विरुद्ध लक्ष्मण गुर्जर ने जिला एवं सेशन न्यायालय में अपील की, जहां सुनवाई के बाद वर्ष 2018 में अधीनस्थ अदालत के प्रसंज्ञान को सही ठहराते हुए अपील खारिज कर दी। इसके बाद लक्ष्मण गुर्जर ने हाईकोर्ट में अपील की, जहां भी मंगलवार को अपील खारिज करते हुए निचली अदालत के निर्णय को सही ठहरा दिया। इस पर लक्ष्मण गुर्जर ने बुधवार को न्यायिक मजिस्ट्रेट देवगढ़ में समर्पण कर दिया।

उत्तराखंड से बनवाई अंकतालिका
वर्ष 2015 में पंचायत समिति चुनाव के दौरान वार्ड 10 से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर लक्ष्मण गुर्जर ने नाम निर्देशन पत्र पेश किया। भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर नामांकन निरस्त हो गया। इस पर दलपतसिंह ने नामांकन के साथ फर्जी अंकतालिका प्रस्तुत करने का प्रकरण थाने में दर्ज कराया। बताया कि लक्ष्मण गुर्जर द्वारा उत्तराखंड के शिक्षा परिषद बोर्ड ऑफ स्कूल के तहत चिल्ड्रन एकेडमी उमावि श्रीनगर गढवाल से वर्ष 2012 में 10वीं उत्तीर्ण की अंकतालिका बनवा ली।

Show More
laxman singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned