राजसमंद में जनसेवकों के लिए गूंजी घंटियां

- ढोल-नगाड़े, थालियां व तालियां

By: Rakesh Gandhi

Updated: 22 Mar 2020, 08:15 PM IST

राजसमंद. दिनभर की खामोशी के बाद रविवार शाम पांच बजे सभी लोग घरों के बाहर बालकनी और दरवाजे के बाहर खड़े हो गए। किसी के हाथ में थाली थी, तो किसी के हाथ में शंख, कोई हाथों से तालियां बजा रहा था। ये लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर उन चिकित्साकर्मियों के प्रति आभार व्यक्त कर रहे थे, जो लोग अपनी जान जोखिम में डालकर अस्पतालों में मरीजों का उपचार कर रहे हैं। उन पुलिसकर्मियों के लिए जो दिनभर सड़कों पर खड़े रहकर लोगों को घरों में रहने को प्रेरित कर रहे हैं। उन पत्रकारों व फोटोग्राफर के लिए जो इन आपात परिस्थितियों में आमजनता के लिए समाचार व फोटो का संकलन कर रहे हैं व उन प्रशासनिक अधिकारियों के लिए जो दिनरात उन्हें सुरक्षित करने को सेवाकार्य में जुटे हैं।

पुलिस ने पांच मिनट बजाया सायरन
प्रधानमंत्री के आह्वान पर जब लोगों ने घर की छतों से ताली, शंख, ढोल बजाए, तब पुलिस ने भी अपनी गाडिय़ों के सायरन ५ मिनट तक बजाया। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश गुप्ता ने गाड़ी से उतरकर, हाथ जोड़कर लोगों का अभिवादन भी स्वीकार किया।

Rakesh Gandhi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned