बहरीन के श्रीनाथजी मंदिर की वर्षगांठ मनाई

तिलकायत पुत्र विशाल बावा भी पहुंचे

By: laxman singh

Published: 29 Mar 2019, 12:18 PM IST

प्रमोद भटनागर
नाथद्वारा. अरब के बहरीन में स्थित श्रीनाथजी मंदिर की २००वीं वर्षगांठ मनाई गई। आयोजन में मुख्य अतिथि के रूप में तिलकायत पुत्र विशाल बावा बहरीन गए। यहां कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बहरीन दुनिया के हर धर्म के प्रति इतना खुलापन रखता है यह वास्तव में शांति और सौहार्द का प्रतीक है। यहां के सभी नागरिकों का प्यार और सम्मान सुकून देने वाला है। इस दौरान विशाल बावा ने प्रिंस अब्दुलाह बिन, हमद बिन, ईसा अल खलीफा, राजा हमद ग्लोबल सेंटर के डॉ. शेख खालिद बिन, खलीफा बिन, दाईजी अल खलीफा, रानी एलिजाबेथ के दूसरे पुत्र ड्यूक ऑफ यॉर्क, प्रिंस एंड्यू आदि से मिले। कार्यक्रम में राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी शिरकत की। इससे पूर्व विशाल बावा के बहरीन पहुंचने पर वहां रहने वाले अप्रवासी भारतियों तथा वहां के शेखों ने उनका स्वागत किया। इस अवसर पर शेख आदि का विशाल बावा ने भी परम्परागत रजाई ओढ़ाकर सम्मान किया।
दूसरे दिन भी संगठनों ने बांटी मिठाई
श्रीनाथजी मंदिर के तिलकायत राकेश कुमार के यहां पौत्र के जन्म पर शहर में गुरुवार को दूसरे दिन भी बधाइयों का तांता लगा रहा। कई संगठनों द्वारा मिठाई भी बांटी गई। वहीं बृजवासी सेवा संघ के अध्यक्ष दादू पहलवान ने भी इस अवसर पर हर्ष जताया। उधर विशाल बावा के यहां पुत्र के प्राकट्य अवसर पर श्रीनाथजी मंदिर के मोतीमहल पर आकर्षक विद्युत सजावट भी की गई।

फाग महोत्सव पहुंचा चरम पर
चारभुजा. पन्द्रह दिवसीय फाग मेला परवान चढऩे लगा है, शीतला सप्तमी होने के बाद से अब मेले में अबीर-गुलाल के साथ रंग की बौछार भी जमकर चल रही है। प्रभु को सोने की पालकी में झूला झुलाया जा रहा हैं। वही पुजारी गण मृदंग की थाप पर प्रभु के समक्ष भगत से नेह करो मन मोहन तुम..., श्रद्धाभाव से प्रभु के समक्ष प्रेम दया के समर्पण भाव से नतमस्तक हो रहे हैं। वहीं रूपनारायण, सेवंत्री चत्रभुजनाथ दोनों भाइयों का गुणगान कर रहे हैं। मुख्य मेला 31 मार्च से 4 अप्रेल तक चलेगा। वहीं रूपनारायण सैवन्त्री में मुख्य मेला 5 अप्रेल तक चलेगा।
खमनोर. कस्बे के बड़े चौराहे पर श्रद्धालुओं ने जमकर गेर नृत्य किया। परंपरागत रीति से ब्रह्मपुरी स्थित चारभुजानाथ एवं तहसील रोड स्थित चारभुजानाथ के विग्रह स्वरूपों को पालकियों में बिराजित कर धूमधाम से बड़ा चौराहा लाया गया। यहां झूलों में बिराजित कर झुलाया गया।

celebrate birthday shreenath tample of bahrain
laxman singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned