फैक्ट्री पर मिला बाल श्रमिक, मालिक पर कार्रवाई

- बाल आयोग सदस्य पंड्या का जिले में औचक निरीक्षण
- बाल गृहों के साथ जिले में संचालित पाउडर प्लांट, माइनिंग फैक्ट्रियां भी देखी

By: Rakesh Gandhi

Updated: 14 Sep 2020, 08:33 PM IST

राजसमन्द. राजस्थान राज्य बाल संरक्षण आयोग द्वारा राज्य भर में किए जा रहे औचक निरीक्षणों की कड़ी में सोमवार को सदस्य शैलेन्द्र पण्डया ने जिले में औचक निरीक्षण किया। केलवा थाना क्षेत्रा के जैतपुरा में कावेरी मिनरल पाउडर प्लांट परिसर में खेल रहे बच्चे की ट्रेलर से कुचलने पर हुई मौत पर संज्ञान लेते हुए आयोग सदस्य ने घटनास्थल पहुंचकर फैक्ट्री मालिक को फैक्ट्री में तलब किया। साथ ही अधिकारियों से बाल श्रमिकों के रेस्क्यू के साथ नियोक्ताओं के खिलाफ किशोर न्याय अधिनियम, श्रम अधिनियम, बंधुआ श्रम अधिनियम में कार्रवाई सुनिचित करने को कहा।

इसके साथ ही बच्चों की सुरक्षा के लिए किए जाने वाले कार्य यथा फैक्ट्री परिसर में फेंसिंग लगाने एवं सभी बच्चों को शिक्षा से जोडऩे के निर्देश दिए। बालक के माता-पिता के गांव से लौटने के बाद मोटर वाहन दुर्घटना बीमा क्लेम के लिए आवेदन में सहायता कराने के निर्देश दिए। इसके बाद पंडया ने आस-पास की दस फैक्ट्रियों का औचक निरीक्षण किया एवं फैक्ट्री मालिकों को सुरक्षा उपकरण श्रमिकों को देने एवं बालश्रम नहीं करवाने, बच्चों को शिक्षा से जोडऩे के लिए निर्देश दिए। सिलकोसिस से बचाव के उपाय अपनाने को कहा एवं सिलकोसिस पीडि़त को सरकार की तरफ से दिए जाने वाले लाभ यथा पालनहार योजना इत्यादि से जोडऩे के लिए कहा।

सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण नरेन्द्र कुमार ने बताया कि मुकदमा दर्ज होने पर बालक को पीडि़त प्रतिकर योजना के तहत भी लाभ दिलाया जा सकता है। बाल अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक कृष्णकांत सांखला एवं बाल कल्याण समिति अध्यक्षा भावना पालीवाल को 15 दिवस में पुन: फैक्ट्री में जाकर बच्चों की सुरक्षा के लिए फैक्ट्री मालिक द्वारा किए जाने वाले कार्यों की पूर्णता को एवं बालक तथा श्रमिकों के हितों को सुनिश्चित करने को निर्देशित किया।

बालश्रम रोकने को प्रभावी कार्यवाही के निर्देश
मानव तस्करी निरोधक दल प्रभारी श्यामराज सिंह को विभिन्न फैक्ट्रियों में बालश्रम को रोकने के लिए प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए। फैक्ट्री बॉयलर इंस्पेक्टर एवं जिला श्रम अधिकारी को इस क्षेत्र की फैक्ट्रियों का संयुक्त निरीक्षण कर रिपोर्ट पेश करने को कहा। इस अवसर पर निरीक्षण के दौरान आसरा विकास संसथान निदेशक भोजराजसिंह एवं चाईल्डलाइन की टीम भी आदि उपस्थित रहे।

Rakesh Gandhi Editorial Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned