पड़ोसी जिलों में बच्चाचोरी, राजसमंद में भी पुलिस अलर्ट

सन्दिग्ध लोगों पर कड़ाई से निगरानी रखने की हिदायत, पुलिसकर्मियों को बाइक से अपने इलाके में गश्त करने के आदेश, खानाबदोश व घुमक्कड़ डेरों पर कड़ी नजर रखने की हिदायत, सीएलजी व ग्राम रक्षादल के सदस्यों से भी मांगी मदद

By: jitendra paliwal

Published: 05 Mar 2021, 11:28 AM IST

राजसमंद/कुंवारिया. संभाग के डूंगरपुर व बांसवाड़ा से बच्चाचोरी की लगातार घटनाएं तथा उदयपुर से एक बच्चे के लापता होने की सूचना पर राजसमंद जिले में भी पुलिस अलर्ट हो गई है। मुख्यालय से भी समस्त पुलिस थाने के लिए विशेष पुलिस गश्त व निगरानी रखने के निर्देश जारी किए गए हैं।

जिला पुलिस ने चेतावनी जारी करते हुए सभी थानों के जाब्ते को अलर्ट पर रहने को कहा है। जाब्ते को सर्कल में गश्त करने तथा सन्दिग्धों पर कड़ी नजर बनाए रखने के निर्देश दिए। हाईवे पेट्रोलिंग टीम, पुलिस की मोबाइल टीम, सिग्मा व चेतक गश्ती दल तथा नाथद्वारा, कांकरोली, राजसमंद शहर के पुलिस थाना सर्कल में विशेष गश्त करने को कहा गया है। आला अधिकारियों को निर्देशों की कड़ाई से पालना करने की हिदायत दी है।

सार्वजनिक स्थानों पर रखें नजर
जिले के समस्त होटल, ढाबों व चिकित्सालयों पर कड़ी निगरानी रखने के निर्देश हैं। जिला पुलिस ने समस्त थाना सर्कल के सभी होटल, ढाबों को लगातार चेक करने तथा निगरानी रखने के निर्देश दिए। पुलिस ने पब्लिक स्पेस, जिनमें पार्क, चिकित्सालय, बाजारों तथा सार्वजनिक स्थानों पर भी गश्त करने को कहा है। थाना सर्कल में घुमक्कड़ व खानाबदोश लोगों के डेरों की भी जांच-पड़ताल करने सहित सन्दिग्ध दिखाई देने वाले व्यक्ति से पूछताछ करने तथा सन्दिग्धों को डिटेन करने को कहा है।

सीएलजी व ग्राम रक्षादलों के कार्यकर्ताओं की लें मदद
पुलिस ने सीएलजी सदस्यों व ग्रामरक्षा दलों से जुड़े कार्यकर्ताओं व सदस्यों से भी सहयोग मांगते हुए कहा है कि किसी भी प्रकार की सूचना सम्बंधित पुलिस थाने पर दें, सतर्क रहें। सन्दिग्ध लोग दिखने पर सूचित करें। पुलिस थानों को जाब्ते को हाई अलर्ट पर रखने व हाईवे मोबाइल को एक्टिव और अलर्ट रखने के अलावा यह भी कहा है कि पुलिसकर्मी बाइक से लगातार गश्त करें।

अफवाहों से भी रहें सजग
बच्चाचोरी की घटना के बाद अफवाहों की आशंका को देखते हुए पुलिस ने यह भी कहा है कि किसी भी अनजान व्यक्ति से मारपीट या किसी प्रकार की घटना न हो, इसलिए आमजन को समझाएं कि सन्दिग्ध दिखने पर पुलिस को सूचित करें। खुद कोई निर्णय न लें।

उदयपुर रेंज से भी सभी को मैसेज
आईजी उदयपुर कार्यालय से भी पुलिस को विशेष सतर्क रहते हुए सभी एसएचओ को गंभीरता बरतने को कहा है। घरेलू सामान आदि की फेरियां लगाने वाले लोगों की गतिविधियों पर नजर रखने, सन्दिग्ध लगने पर डिटेन कर पूछताछ करने को कहा है।
----
जिस प्रकार डूंगरपुर व बांसवाड़ा में बच्चाचोरी की घटनाएं हुई हैं और उदयपुर में बच्चा मिसिंग होने की सूचना है, उसे देखते हुए पुलिस के लिए यह रेड अलर्ट की सिचुएशन बन गई है। हमने पूरे तंत्र को अलर्ट मोड पर रखा हुआ है।
राजेश गुप्ता, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक

jitendra paliwal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned